ताज़ा खबर
 

गलत तरीक़े से भर्ती कर रखे थे कोरोना मरीज, सात की मौत के बाद पुलिस ने शुरू की जांच

30 अप्रैल की रात मरीजों के परिजनों ने आरोप लगाया था कि एक ही रात में ऑक्सीजन की कमी की वजह से सात मरीजों की मौत हो गई। जब अस्पताल के लोगों से संपर्क करने को कोशिश की गई तो कोई जवाब नहीं मिला।

तस्वीर अहमदाबाद के एक अस्पताल की है जिसका सांकेतिक इस्तेमाल किया गया है। (पीटीआई)

कोरोना संकट के बीच कई ऐसी खबरें आ रही हैं जिसमें अस्पताल और प्रशासन की बड़ी लापरवाही दिखाई देती है। इसी तरह का एक मामला गुरुग्राम से सामने आया है। यहां पांच दिन पहले कथित तौर पर ऑक्सीजन की कमी की वजह से एक अस्पताल में सात लोगों की मौत हो गई थी। अब घटना के इतने दिनों के बाद अधिकारियों का कहना है कि जांच की जा रही है और प्राथमिक जांच में पता चला है कि यह एक कोविड अस्पताल नहीं था।

गुरुग्राम के सेक्टर 56 के कृति हॉस्पिटल में यह घटना हो गई थी। नाम न बातए जाने की शर्त पर एक अधिकारी ने बताया, ‘इस अस्पताल में कोरोना के मरीज गलत तरीके से भर्ती किए गए थे। यह कोविड डिजिनेटेड हॉस्पिटल नहीं था। रिपोर्ट तैयार है। जांच पूरी होने के बाद ही सभी बातें स्पष्ट होंगी।’

बता दें कि 30 अप्रैल की रात मरीजों के परिजनों ने आरोप लगाया था कि एक ही रात में ऑक्सीजन की कमी की वजह से सात मरीजों की मौत हो गई। जब अस्पताल के लोगों से संपर्क करने को कोशिश की गई तो कोई जवाब नहीं मिला। उस वक्त मौके पर पहुंचे पुलिसकर्मियों ने भी यही कहा था कि ये मौतें ऑक्सीजन की कमी की वजह से नहीं हुई हैं बल्कि कोरोना की वजह से लोग मरे।

बुधवार को एसएचओ सेक्टर 55/56 पवन मलिक ने कहा, ‘हमें अस्पताल के खिलाफ कोई औपचारिक शिकायत नहीं मिली है।’ इसी दिन जारी बयान में जिला प्रशासन ने कहा, गुरुग्राम के प्राइवेट अस्पताल के बारे में एक वीडियो वायरल हो रहा है। यह पुराना है और आज की स्थिति से इसका कोई लेना-देना नहीं है। गुरुग्राम जिला कलेक्टर ने भी एक ट्वीट किया और कहा कि वीडियो पिछले हफ्ते का है।

बाद में गुरुग्राम के डेप्युटी कमिश्नर ने जांचे के आदेश दिए। राहुल गांधी ने भी उस वीडियो को ट्विटर पर शेयर किया था और कहा था, यह हत्या है।

Next Stories
1 Covid-19 vaccine registration: जानें cowin.gov.in पर कैसे करें कोरोना वैक्सीन के लिए रजिस्ट्रेशन
2 हवा में नहीं छोड़ी जाती ऑक्सीजन…गौरव भाटिया बोले, राज्यों के पास नहीं थे टैंक
यह पढ़ा क्या?
X