ताज़ा खबर
 

फिर फंसे केजरीवाल, वीडियो में कार्यकर्ता से रुपयों का पैकेट लेते नजर आए आप के पंजाब संयोजक

एक ऐसा वीडियो क्लिप हाथ लगने के बाद, जिसमें पंजाब आम आदमी पार्टी (आप) के प्रदेश संयोजक सुच्चा सिंह छोटेपुर पार्टी कार्यकर्ता से रुपयों का एक पैकेट लेते नजर आ रहे हैं।

Author चंडीगढ़ | August 25, 2016 1:53 AM
दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल। (File Photo)

एक ऐसा वीडियो क्लिप हाथ लगने के बाद, जिसमें पंजाब आम आदमी पार्टी (आप) के प्रदेश संयोजक सुच्चा सिंह छोटेपुर पार्टी कार्यकर्ता से रुपयों का एक पैकेट लेते नजर आ रहे हैं, आप ने उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई करने की योजना पर काम शुरू कर दिया है। छोटेपुर की जगह पंजाब आप का जिम्मा पार्टी की कानूनी इकाई के प्रमुख हिम्मत सिंह शेरगिल को सौंपे जाने के आसार हैं, जो आप के प्रदेश प्रभारी संजय सिंह और राष्ट्रीय संगठन निर्माण प्रमुख दुर्गेश पाठक के भी करीबी हैं। टिकट वितरण से दरकिनार छोटेपुर ने कहा- हां, पार्टी फंड के लिए रकम ली है। साथ ही उन्होंने इसे भ्रष्टाचार साबित कर दिखाने के लिए आप को वह वीडियो क्लिप जगजाहिर करने की हिम्मत दिखाने की खुली चुनौती भी दे दी।

उधर, वीडियो दिखाने को तैयार नहीं होने वाले आप के कुछ नेताओं का कहना है कि छोटेपुर पर फैसला एक-दो दिन में ही ले लिया जाएगा क्योंकि यह वीडियो केजरीवाल को दिखा दिया गया है और उन्होंने सख्त नाराजगी जताते हुए उन्हें हटाने के आदेश दे दिए। लेकिन इस पर आधिकारिक रूप से बोलने के लिए कोई भी तैयार नहीं। नाम नहीं छापने की शर्त पर एक वरिष्ठ पार्टी नेता ने कहा कि जब अरविंद केजरीवाल विपस्यना के लिए हिमाचल में थे तो बठिंडा के एक पार्टी कार्यकर्ता ने अपने चंडीगढ़ आवास पर छोटेपुर का स्टिंग आॅपरेशन किया। उनके मुताबिक 15 मिनट की इस वीडियो क्लिप में छोटेपुर उन्हें रकम के बदले सरकारी नौकरी देने का वादा करते सुनाई पड़ते हैं। इसके बाद छोटेपुर केजरीवाल से मिलने दिल्ली गए। केजरीवाल ने उनसे मिलने से इनकार कर दिया तो उन्होंने उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया से मुलाकात की और उनकी बातचीत को रेकॉर्ड भी किया गया। छोटेपुर को या तो पार्टी छोड़ने या फिर हटा दिए जाने में से कोई विकल्प चुनने को कहा गया। छोटेपुर ने बताया कि जब केजरीवाल ने उन्हें मिलने से इनकार कर दिया तो उन्होंने सिसोदिया से मुलाकात की और उन्हें बताया कि हां, उन्होंने एक पार्टी कार्यकर्ता से रकम ली थी, जो किसी भी रूप में भ्रष्टाचार नहीं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App