किसानों को लेकर बीजेपी नेता के विवादित बयान, कहा- मैं मार-मार कर पैर तोड़ देता, मोदी जी प्यार से बात कर रहे हैं

हरिमंदर सिंह ने कहा कि अगर मुझे बात करने के लिए बोला जाता तो मैं मार-मार के पैर तोड़ देता और जेल में बंद करवा देता। आगे उन्होंने कहा कि किसानों का यही हाल करना चाहिए।

अपनी मांगों को लेकर प्रदर्शन करते किसान। फाइल फोटो।

किसान आंदोलन के लेकर पंजाब बीजेपी के प्रवक्ता हरिमंदर सिंह ने विवादित बयान दिया है। उन्होंने कहा है कि किसानों को पीटना ही उनसे निपटने का एक मात्र उपाय है। बीजेपी प्रवक्ता ने कहा कि प्रधानमंत्री किसानों के साथ मानवता से पेश आ रहे हैं। मैं होता तो प्रदर्शन कर रहे किसानों को पीटता और जेल में डलवा देता।

हरिमंदर सिंह ने कहा कि अगर मुझे बात करने के लिए बोला जाता तो मैं मार-मार के पैर तोड़ देता और जेल में बंद करवा देता। आगे उन्होंने कहा कि किसानों का यही हाल करना चाहिए। बताते चलें कि तीन नए कृषि कानूनों के खिलाफ किसानों का आंदोलन लगातार जारी है। पिछले लगभग 9 महीनों से किसान दिल्ली बॉर्डर पर बैठे हुए हैं। सरकार के साथ 11 दौर की वार्ता के बाद भी दोनों पक्ष के बीच कोई फैसला नहीं हो पाया। जिसके बाद से सरकार और किसानों के बीच डेडलॉक जारी है। दोनों ही पक्षों के बीच अंतिम बार वार्ता 22 जनवरी को हुई थी।

इधर दिल्ली की सीमाओं पर चल रहे किसानों के धरने के मामले में राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग ने उत्तर प्रदेश, हरियाणा, राजस्थान और दिल्ली की सरकारों को नोटिस जारी किया है। इन सभी राज्यों के मुख्य सचिवों, पुलिस महानिदेशकों और पुलिस आयुक्त से धरने के मामले में की गई कार्रवाई का ब्योरा देने को कहा गया है।

आयोग के मुताबिक उसे इस धरने के संबंध में अनेक शिकायतें मिली हैं। खासकर नौ हजार छोटी व मंझली औद्योगिक इकाईयों पर इसका गंभीर प्रतिकूल प्रभाव पड़ने की बात सामने आई है।आयोग ने कहा है कि शिकायतें इस बारे में भी मिली हैं कि धरने के कारण लोगों को अपने गंतव्य तक पहुंचने के लिए लंबी दूरी वाले रास्तों से सफर करना पड़ रहा है। सीमाओं पर अवरोध लगे हैं। आरोप यह भी है कि आंदोलनकारी किसान धरना स्थलों पर कोरोना नियमों का भी पालन नहीं कर रहे हैं।

पढें राज्य समाचार (Rajya News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट