ताज़ा खबर
 

भय्यूजी महाराज आत्‍महत्‍या: भक्‍तों ने जताई साजिश की आशंका, CBI जांच की मांग

अपने आवास पर गोली मारकर खुदकुशी करने वाले आध्यात्मिक संत भय्यू महाराज के अंतिम दर्शन के लिए आज यहां उनके आश्रम में भक्तों का हुजूम उमड़ पड़ा।

Author इंदौर | June 13, 2018 3:30 PM
Bhaiyyu Maharaj Suicide Indore Latest News: भैय्यू जी महाराज का सुसाइड नोट।

अपने आवास पर गोली मारकर खुदकुशी करने वाले आध्यात्मिक संत भय्यू महाराज के अंतिम दर्शन के लिए आज यहां उनके आश्रम में भक्तों का हुजूम उमड़ पड़ा। इस बीच संत के गमगीन अनुयायियों ने उनकी मृत्यु के पीछे साजिश का संदेह जताते हुए सीबीआई जांच की मांग की है।भय्यू महाराज की पार्थिव देह को उनके बापट चौराहा स्थित आश्रम में लाया गया जहां उनके अंतिम दर्शन के लिए भक्तों और अनुयायियों का हुजूम उमड़ पड़ा है। भय्यू महाराज के कई भक्तों को अब भी यकीन नहीं हो रहा है कि उनके गुरु आत्महत्या कर सकते हैं। उन्होंने अपने गुरु की आत्महत्या की सीबीआई जांच की मांग की है।

महाराष्ट्र के जलगांव जिले से आये भय्यू महाराज के अनुयायी सम्भाजी देशमुख ने संवाददाताओं से कहा कि उनके गुरु कायर नहीं थे और आत्महत्या जैसा कदम नहीं उठा सकते।
भावुक भक्त ने भरे कण्ठ से कहा, “हमें शक है कि साजिश के तहत भय्यू महाराज की हत्या करायी गयी है। मामले की सीबीआई जांच करायी जानी चाहिए।” उन्होंने दावा किया कि महाराज को नुकसान पहुंचाने के लिये पहले भी प्रयास किये जाते रहे हैं।

इस बीच महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस के कार्यालय में पदस्थ (ओएसडी) विशेष कार्याधिकारी श्रीकांत भारतीय ने फडणवीस की ओर से भय्यू महाराज को श्रद्धांजलि दी।
केंद्रीय मंत्री रामदास अठावले ने भी उन्हें श्रद्धांजलि दी। भय्यू महाराज का अंतिम संस्कार आज दोपहर में किया जाएगा। इससे पहले उनके अंतिम दर्शन के लिए आये कई भक्तों को अपने गुरू के दिवंगत हो जाने के बाद विलाप करते देखा गया, जिनमें बड़ी संख्या में महिलाएं शामिल थीं।

मध्य प्रदेश और महाराष्ट्र समेत देश के अनेक हिस्सों में राजनेताओं, उद्यमियों तथा फिल्मी हस्तियों समेत विभिन्न वर्ग के लोगों पर प्रभाव रखने वाले आध्यात्मिक संत भय्यू महाराज ने कल यहां अपने आवास पर कथित रूप से गोली मारकर आत्महत्या कर ली थी। पुलिस इस मामले में विभिन्न कोणों से जांच कर रही है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App