ताज़ा खबर
 

मध्‍य प्रदेश: विधानसभा चुनाव से पहले बीजेपी के लिए बुरी खबर, स्‍थानीय चुनाव में कांग्रेस का दबदबा

खास बात ये है कि पंचमढ़ी छावनी परिषद में 23 साल बाद कांग्रेस को जीत मिली है। यही वजह है कि कांग्रेस इस जीत को अपने लिए शुभ मान रही है और इसे आगामी चुनावों में जीत के लिए प्रेरणा के तौर पर ले रही है।

Author Published on: July 23, 2018 1:32 PM
स्थानीय चुनावों में कांग्रेस की जोरदार जीत, 7 में से 6 सीटों पर दर्ज की जीत

इस साल के अंत में मध्य प्रदेश में विधानसभा चुनाव होने हैं। इसी बीच कांग्रेस के नजरिए से एक अच्छी खबर आयी है। दरअसल कांग्रेस ने पंचमढ़ी छावनी परिषद के चुनावों में 7 सीटों में से 6 सीटों पर कब्जा जमा लिया है। सिर्फ एक सीट पर ही भाजपा समर्थित उम्मीदवार को जीत मिल सकी है। खास बात ये है कि पंचमढ़ी छावनी परिषद में 23 साल बाद कांग्रेस को जीत मिली है। यही वजह है कि कांग्रेस इस जीत को अपने लिए शुभ मान रही है और इसे आगामी चुनावों में जीत के लिए प्रेरणा के तौर पर ले रही है। वहीं सत्ताधारी भाजपा को इस हार से तगड़ा झटका लगा है।

बता दें कि छावनी परिषद में अध्यक्ष सेना के पदेन अधिकारी ही होते हैं। रविवार को छावनी परिषद में 7 वार्डों के लिए चुनाव संपन्न कराए गए थे। जानकारी के मुताबिक 4495 मतदाताओं ने सुबह 8 बजे से लेकर शाम के 5 बजे तक मतदान किया। वहीं रात करीब 9 बजे इसके नतीजे घोषित किए गए, जिसमें कांग्रेस ने बाजी मारी। पंचमढ़ी मध्य प्रदेश के होशंगाबाद जिले में स्थित राज्य का बड़ा पर्यटन केन्द्र है। अपनी प्राकृतिक सुंदरता के कारण पंचमढ़ी बड़ी संख्या में पर्यटकों आकर्षित करता है। बता दें कि आगामी विधानसभा चुनावों के लिए कांग्रेस ने राज्य में नेतृत्व के स्तर पर कई बड़े बदलाव किए हैं। छिंदवाड़ा से सांसद और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता कमलनाथ को प्रदेश अध्यक्ष बनाया गया है, वहीं गुना से सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया को चुनाव प्रचार की कमान सौंपी गई है।

वहीं दूसरी तरफ भाजपा की ओर से सीएम शिवराज सिंह चौहान ने भी चुनाव प्रचार के लिए कमर कस ली है। बता दें कि शिवराज सिंह चौहान ने ग्रामीण इलाकों में जनसम्पर्क करने के लिए जन-आशिर्वाद यात्रा शुरु करने का फैसला किया है। यह यात्रा 2 महीने तक चलेगी, जिसमें शिवराज सिंह चौहान 230 विधानसभाओं को कवर करेंगे। बता दें कि शिवराज सिंह चौहान पिछले तीन कार्यकाल से मध्य प्रदेश की सत्ता में जमे हैं और इस बार उन्हें कांग्रेस से कड़ी चुनौती मिलती दिखाई दे रही है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 आमरण अनशन करने वाले किसान की मौत
2 मध्‍य प्रदेश: कोर्ट मैरिज करने जा रही थी लड़की, पिता-भाई ने जिंदा जला दिया
3 अखिलेश यादव बोले- 2019 में यूपी देगा नया प्रधानमंत्री!