ताज़ा खबर
 

अजित पवार को किया गया ब्लैकमेल, सामना में जल्द करूंगा खुलासा- संजय राउत

पवार ने संवाददाता सम्मेलन में कहा, ‘‘महाराष्ट्र में भाजपा का समर्थन करने वाले राकांपा विधायकों को यह बात पता होनी चाहिए कि उन पर दल बदल विरोधी कानून लागू होगा।’’ उन्होंने कहा कि अजित पवार का फैसला अनुशासनहीनता है और कोई भी राकांपा कार्यकर्ता फड़णवीस के नेतृत्व वाली सरकार के समर्थन में नहीं है।

Author मुंबई | Updated: November 23, 2019 5:18 PM
sanjay rautराज्य सभा सांसद और शिवसेना नेता संजय राउत। (ANI)

शिवसेना नेता संजय राउत ने शनिवार को दावा कि महाराष्ट्र में सरकार बनाने को लेकर भाजपा से हाथ मिलाने के लिये राकांपा नेता अजित पवार को ‘‘ब्लैकमेल’’ किया गया। राउत ने कहा कि अजित पवार राकांपा के खेमे में लौट सकते हैं। उल्लेखनीय है कि भाजपा के देवेंद्र फड़णवीस ने शनिवार को महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री पद की, जबकि अजित पवार ने उप मुख्यमंत्री पद की शपथ ली। राउत ने संवाददाताओं से कहा, ‘‘राकांपा नेता धनंजय मुंडे से संपर्क किया गया है। अजित पवार भी लौट सकते हैं (राकांपा के खेमे में)।

हमारे पास इस बारे में जानकारी है कि किस तरह अजित पवार को ब्लैकमेल किया गया और जल्द ही इसका खुलासा हो जाएगा।’’ मुंडे के बारे में बताया जा रहा है कि वह अजित पवार का समर्थन कर रहे हैं। उनसे किसी तरह का संपर्क नहीं हो पा रहा। बताया जाता है कि वह पिछले कुछ दिनों से फड़णवीस के संपर्क में थे। मुंडे पर्ली विधानसभा सीट से निर्वाचित हुए हैं, जहां उन्होंने अपनी चचेरी बहन एवं भाजपा नेता पंकजा मुंडे को विधानसभा चुनाव में हराया था।
राउत ने कहा, ‘‘नयी सरकार का गठन सुबह सात बजे हुआ। अंधेरे की आड़ में सिर्फ पाप किये जाते हैं।’’

पवार ने संवाददाता सम्मेलन में कहा, ‘‘महाराष्ट्र में भाजपा का समर्थन करने वाले राकांपा विधायकों को यह बात पता होनी चाहिए कि उन पर दल बदल विरोधी कानून लागू होगा।’’ उन्होंने कहा कि अजित पवार का फैसला अनुशासनहीनता है और कोई भी राकांपा कार्यकर्ता फड़णवीस के नेतृत्व वाली सरकार के समर्थन में नहीं है। राकांपा विधायकों ने संवाददाता सम्मेलन में कहा कि उन्हें राज भवन ले जाया गया लेकिन उन्हें यह मालूम नहीं था कि उन्हें शपथ ग्रहण समारोह के लिए ले जाया जा रहा है।

पवार ने कहा कि अजीत पवार को हटाने के बारे में फैसला पार्टी की बैठक में लिया जाएगा। उन्होंने कहा कि राज्यपाल के धोखे से इनकार नहीं किया जा सकता और अजित पवार ने राकांपा विधायकों की ‘‘बनी बनायी’’ सूची सौंपी होगी। पवार ने कहा, ‘‘भाजपा के पास सरकार गठन के लिए पर्याप्त संख्या नहीं है। हम शिवसेना के नेतृत्व में सरकार चाहते हैं, हम एकजुट हैं।’’ संवाददाता सम्मेलन में शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने कहा कि यह महाराष्ट्र पर सर्जिकल स्ट्राइक है और लोग इसका बदला लेंगे। ठाकरे ने कहा कि इस तरह सरकार का गठन संविधान और महाराष्ट्र के लोगों के जनादेश का अपमान है।

Next Stories
1 जो-जो MLA करेगा अजित पवार का समर्थन, उसे गंवानी पड़ेगी विधायकी, पार्टी नेताओं को शरद पवार की चेतावनी
2 अब दो घंटे में सूरत से भुवनेश्वर, नए साल पर शुरू हो रही सीधी विमान सेवा
3 सांड को बचाने के चक्कर में पेड़ से टकराकर पलट गई मिनी बस, हादसे में 14 रामपाल समर्थकों की मौत, कई घायल
आज का राशिफल
X