ताज़ा खबर
 
title-bar

रोहित मर्डर केस: शादी से पहले ही खराब हो गए थे शेखर और अपूर्वा के रिश्ते, एक साल में ही मार डाला

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता नारायण दत्त तिवारी के बेटे रोहित शेखर और उनकी पत्नी अपूर्वा शुक्ला के बीच संबंध शादी से पहले ही खराब हो गए थे। शादी से एक साल पहले तक दोनों प्रेम संबंध में थे।

शादी से पहले रोहित, अपूर्वा में दो बार हो चुका था ब्रेकअप। (फाइल फोटोः इंडियन एक्सप्रेस)

रोहित शेखर मार्च 2017 में पहली बार इंदौर की रहने वाली अपूर्वा शुक्ला से मिले थे। इन दोनों की मुलाकात मेट्रिमोनियल वेबसाइट के जरिये हुई थी। अगले साल अप्रैल इन दोनों ने सगाई कर ली। उस समय रोहित के पिता और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता एनडी तिवारी की तबियत खराब थी। इन दोनों से बीमार पिता से मुलाकात के एक महीने बाद ही शादी कर ली।

शादी से पहले ये दोनों एक साल तक प्रेम संबंध में रहे। रोहित एक करीबी रिश्तेदार ने नाम जाहिर नहीं करने की शर्त पर बताया कि इन दोनों के रिश्तों में खटास इस एक साल के बीच ही आ गई थी। तल्खी बढ़ने के कारण साल 2017 के अंत तक इन दोनों का दो बार ब्रेकअप भी हो चुका था। इसके बाद ये दोनों दुबारा एक साथ आए।  इसके बाद साल 2018 में ये दोनों शादी के बंधन में बंध गए।

रोहित की 75 वर्षीय मां उज्ज्वला शर्मा ने कहा, ‘जब हम रोहित की अस्थियों को हरिद्वार विसर्जित करने जा रहे थे तब अपूर्वा ने कहा, ‘अम्मा, अब तुम ही मेरा सहारा हो। मुझे थोड़ा लग रहा था और अगले दिन पोस्टमार्टम रिपोर्ट में सामने आ गया कि उस मौत अप्राकृतिक तरीके से हुई है। उसने मेरे बेटे को मार दिया। ” अपूर्वा सुप्रीम कोर्ट में वकील थी।

इससे पहले वह इंदौर हाईकोर्ट में वकालत करती थी। सुप्रीम कोर्ट बार एसोसिशन के एक सदस्य ने कहा, उसने वकालत की पढ़ाई की थी और पूर्व जज के साथ काम भी किया था। वह अन्य वकीलों की तरह सुप्रीम कोर्ट में रेगुलर नहीं थी लेकिन जूनियर एडवोकेट के रूप में आती थीं। अपूर्वा की फेसबुक प्रोफाइल के अनुसार वह इंडियन नेशनल ट्रेड यूनियन कांग्रेस की राष्ट्रीय अध्यक्ष थी।

शादी के दो सप्ताह बाद अपूर्वा, रोहित का घर छोड़कर वापस अपने मायके आ गई थी। रोहित के एक रिश्तेदार ने कहा कि अपूर्वा ने रोहित से इंदौर से विधायक का टिकट के लिए मदद मांगी थी। रोहित इस काम में उसकी मदद नहीं कर सका था। रोहित की मां ने कहा अपूर्वा नहीं चाहती थी उसका बड़ा बेटा सिद्धार्थ संपत्ति का एक हिस्सा एनडी तिवारी के पूर्व सहयोगी के बेटे को दे।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App