पंजाब चुनाव से पहले कृषि कानून पर सिद्धू ने केजरीवाल को घेरा तो आप MLA ने कहा- ‘सियासत का राखी सावंत’

नवजोत सिंह सिद्धू के वीडियो पर आप विधायक राघव चड्ढा ने पलटवार करते हुए कहा कि पंजाब की राजनीति के राखी सावंत नवजोत सिंह सिद्धू को मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह के खिलाफ लगातार बड़बड़ाते रहने के कारण कांग्रेस हाईकमान से डांट पड़ी है।

कृषि कानूनों को लेकर पंजाब कांग्रेस अध्यक्ष नवजोत सिद्धू ने अरविंद केजरीवाल को घेरा तो आप विधायक राघव चड्ढा ने उन्हें पंजाब पॉलिटिक्स का राखी सावंत बता दिया। (एक्सप्रेस फोटो)

कृषि कानूनों को लेकर घमासान मचा हुआ है। पंजाब विधानसभा चुनाव से पहले कृषि कानूनों को लेकर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू ने आम आदमी पार्टी और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पर जमकर निशाना साधा। सिद्धू के बयान पर आप विधायक राघव चड्ढा ने भी पलटवार करते हुए सिद्धू को पंजाब की सियासत का राखी सावंत बता दिया।

कृषि कानूनों को लेकर बीजेपी और अकाली दल पर पहले ही निशाना साध चुके पंजाब कांग्रेस अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू ने शुक्रवार को आम आदमी पार्टी और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पर हमला बोला। अपने ट्विटर अकाउंट से पोस्ट किए गए वीडियो में नवजोत सिंह सिद्धू ने कहा कि दिल्ली की केजरीवाल सरकार ने 1 दिसंबर 2020 को सरकारी मंडियों को रद्द कर प्राइवेट मंडियों के लिए मोदी सरकार के तीनों कृषि कानूनों को नोटिफाई किया। जबकि उस समय किसान दिल्ली की सीमाओं पर आंदोलन कर रहे थे।

आगे सिद्धू ने वीडियो में कहा कि इसके बावजूद केजरीवाल सरकार ने एक सेशन बुलाकर बिल फाड़ने वाला ड्रामा किया। लेकिन क्या आपने जो प्राइवेट मंडियों वाला कानून नोटिफाई किया था क्या उसको डी नोटिफाई किया। अगर डी-नोटिफाई किया होता तो मैं मानता, यह सारा ड्रामा है, यह सिर्फ दिखावा है, यह मगरमच्छ के आंसू हैं।

नवजोत सिंह सिद्धू के वीडियो पर आप विधायक राघव चड्ढा ने भी पलटवार किया। राघव चड्ढा ने पलटवार करते हुए कहा कि पंजाब की राजनीति के राखी सावंत नवजोत सिंह सिद्धू को मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह के खिलाफ लगातार बड़बड़ाते रहने के कारण कांग्रेस हाईकमान से डांट पड़ी है। इसलिए आज वह बदलाव के लिए अरविंद केजरीवाल के पीछे चले गए हैं। लेकिन कल तक का इंतजार कीजिए, क्योंकि वह फिर से कैप्टन के खिलाफ जोरदार तरीके से बयानबाजी करेंगे।

हालांकि इससे पहले नवजोत सिंह सिद्धू ने कृषि कानूनों को लेकर अकाली दल पर भी हमला बोला था और उनपर किसानों के हमदर्द बनने का दिखावा करने का आरोप लगाया था। सिद्धू ने ट्वीट करते हुए कहा था कि अकाली दल के प्रधान सुखबीर बादल ने जून 2020 में हुई सर्वदलीय बैठक में कृषि कानूनों का समर्थन किया था। पूर्व मुख्यमंत्री प्रकाश बादल और हरसिमरत बादल ने जनता के दबाव में यू-टर्न लेने से पहले सितंबर 2020 तक कृषि कानूनों के पक्ष में वीडियो भी बनाए थे।

पढें राज्य समाचार (Rajya News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट