scorecardresearch

Madhya Pradesh: कमलनाथ ने अधिकारियों को धमकाया! बोले- कान खोल के सुन लें, सबका अच्छा हिसाब लिया जाएगा

MP Polls: निवार में एक रैली को संबोधित करते हुए कमलनाथ ने कहा, ‘सभी कर्मचारी और पुलिस के लोग कान खोलकर सुन लें कि उनका अच्छा हिसाब लिया जाएगा।’

Madhya Pradesh: कमलनाथ ने अधिकारियों को धमकाया! बोले- कान खोल के सुन लें, सबका अच्छा हिसाब लिया जाएगा
Congress Leader Kamal Nath: कांग्रेस नेता कमलनाथ (फोटो- ट्विटर/ ANI)

MP Government: कांग्रेस नेता (Congress Leader) कमलनाथ (Kamal Nath) ने मध्य प्रदेश की पुलिस और अधिकारियों को कहा कि 8 महीने बाद उनसे हिसाब लिया जाएगा। मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव (MP Assembly Election) से पहले उन्होंने एक रैली के दौरान लोगों से कहा कि बिना डरे पुलिस और अधिकारियों से हिसाब लीजिएगा।

निवार में एक रैली को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा, ‘मैं कहना चाहता हूं कि आठ महीने में चुनाव हैं। डरिएगा मत, आक्रामक रहिए। अधिकारियों और पुलिस को कह दीजिएगा कि 8 महीने में हम आपसे हिसाब लेंगे। सभी कर्मचारी और पुलिस के लोग कान खोलकर सुन लें कि उनका अच्छा हिसाब लिया जाएगा।’

उन्होंने आगे कहा, ‘अभी मैं आपसे यह कहना चाहता हूं कि ये चुनाव किसी व्यक्ति या कांग्रेस का नहीं बल्कि आने वाली पीढ़ियों का है। कैसा भविष्य आप सौंपना चाहते हैं आने वाली पीढ़ियों को। आज किस प्रकार का हमारे संविधान पर आक्रमण हो रहा है। हमारे देश की संस्कृति खतरे में है। आप सबको इस संस्कृति और संविधान का रक्षक बनना है।’

उनके इस बयान पर मुख्यमंत्री शिवराज सरकार ने भी पलटवार किया है। उन्होंने कहा कि एक कुंठित व्यक्ति ही ऐसी भाषा बोल सकता है। उन्होंने कहा, ‘ये उनकी(कमलनाथ) कुंठा बोल रही है। कभी वो खुद को भावी मुख्यमंत्री बताते हैं, कभी भविष्य वक्ता हो जाते हैं। एक कुंठित व्यक्ति ही ऐसी भाषा बोल सकता है कि देख लूंगा, निपटा दूंगा। कमलनाथ जी आप बुजुर्ग नेता हैं, कम से कम संयम का परिचय दीजिए।’

कमलनाथ का ज्योतिरादित्य सिंधिया पर हमला

वहीं, कमलनाथ ने टीकमगढ़ में केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया पर हमला करते हुए कहा कि हमें किसी संधिया की जरूरत नहीं है। उन्होंने कहा कि अगर वे इतनी बड़ी तोप होते तो चुनाव क्यों हार गए। पत्रकारों से बात करते हुए उन्होंने आगे कहा कि सिंधिया अगर तोप थे, तो फिर ग्वालियर, मुरैना महापौर क्यों हार गए। वहीं, चुनावी मुद्दों के सवाल पर उन्होंने शिवराज सिंह चौहान सरकार को निशाने पर लिया और कहा कि उन्हें 18 साल का हिसाब देना होगा। उन्होंने कहा कि वे अपनी सरकार के 15 महीने का हिसाब देने के लिए तैयार हैं।

पढें राज्य (Rajya News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

First published on: 22-01-2023 at 09:29:50 am
अपडेट