ताज़ा खबर
 

कर्नाटक के सियासी संकट पर कांग्रेस नेता अधीर चौधरी ने की टिप्पणी, बोले- ‘शिकारी पार्टी’ है BJP

गौरतलब है कि कर्नाटक में कांग्रेस-जेडीएस समर्थित सरकार के 12 विधायक अब तक इस्तीफा दे चुके हैं। इनमें 9 विधायक कांग्रेस के हैं, जबकि 3 विधायक जेडीएस के।

Author बेंगलुरु | July 8, 2019 4:27 PM
कांग्रेस और जेडीएस के विधायक (फोटो सोर्स: इंडियन एक्सप्रेस)

कर्नाटक में जारी सियासी संकट को लेकर कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी ने बीजेपी पर हमला बोला है। उन्होंने बीजेपी को शिकारी पार्टी करार देते हुए कहा कि कर्नाटक संकट के मुद्दे को लोकसभा में उठाया जाएगा। हालांकि, इस दौरान उन्होंने अपनी रणनीति का खुलासा नहीं किया। बता दें कि कर्नाटक में कांग्रेस-जेडीएस गठबंधन वाली सरकार के 12 विधायक अब तक इस्तीफा दे चुके हैं। इनमें 9 विधायक कांग्रेस के हैं, जबकि 3 जेडीएस के। इसके चलते कर्नाटक सरकार संकट में मानी जा रही है।

जानें क्या बोले अधीर रंजन?: लोकसभा में कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी ने लोकसभा के बाहर पत्रकारों से बात करते हुए कहा, ‘‘कर्नाटक के मुद्दे को हम लोकसभा में उठाने की कोशिश करेंगे, लेकिन अभी हम अपने हथियार का खुलासा नहीं कर रहे हैं। हालांकि, यह स्पष्ट है कि बीजेपी शिकारी पार्टी है।’’

National Hindi News, 08 July 2019 LIVE Updates: पढ़ें आज की बड़ी खबरें

बीजेपी ने आरोपों को नकारा: बीजेपी ने कांग्रेस नेता अधीर रंजन के आरोपों को नकार दिया है। पार्टी का कहना है कि यह कांग्रेस नेताओं और कर्नाटक के पूर्व मुख्यमंत्री सिद्धरमैया व वर्तमान सीएम एचडी कुमारस्वामी के बीच सत्ता संघर्ष का परिणाम है। इसके चलते ही राज्य में राजनीतिक संकट बना हुआ है।

बता दें कि कर्नाटक में कांग्रेस-जेडीएस के गठबंधन वाली सरकार है, जिसके 12 विधायक अब तक इस्तीफा दे चुके हैं। हालांकि, उनका इस्तीफा अभी मंजूर नहीं किया गया है। बता दें कि मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी का दावा है कि स्थिति पर नियंत्रण कर लिया गया है। इसके बाद सरकार के सभी मंत्रियों ने इस्तीफा दे दिया। सीएम का कहना है कि अब नए सिरे से कैबिनेट का गठन किया जाएगा।

Bihar News Today, 08 July 2019: बिहार से जुड़ी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करें

इस्तीफा देने वाले विधायक बनेंगे मंत्री?: सूत्रों का कहना है कि कर्नाटक में मंत्रियों का इस्तीफा विधायकों को मनाने के लिए लिया गया है। ऐसे में इस्तीफा देने वाले विधायकों को मंत्री पद दिया जाएगा, जिससे उम्मीद है कि सभी विधायक पार्टी में लौट आएंगे।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App