ताज़ा खबर
 

अमित शाह पार्टी तोड़ने में माहिर, गोवा-कर्नाटक का उदाहरण देख लो; कपिल सिब्बल का BJP पर हमला

महाराष्ट्र में राष्ट्रपति शासन लागू होने के बाद उठे मुद्दों पर कपिल सिब्बल ने गृह मंत्री अमित शाह पर पलटवार किया है। उन्होंने कहा कि शाह को पार्टी तोड़ने और जोड़ने में काफी एक्सपीरियंस हैं।

Author मुंबई | Updated: November 14, 2019 4:24 PM
कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल (फोटो सोर्स: ANI)

महाराष्ट्र में सरकार बनाने को लेकर खींचतान के बीच कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल ने गृह मंत्री अमित शाह को घेरा है। सिब्बल ने गृह मंत्री पर पलटवार करते हुए कहा है कि वे पार्टी को तोड़ने और जोड़ने में काफी तजुर्बेकार है। बता दें कि सिब्बल ने यह बयान अमित शाह को जवाब देते हुए कहा है। इससे पहले शाह ने बुधवार (13 नवंबर) को सिब्बल पर हमला बोलते हुए कहा था कि उन जैसे वकील सरकार नहीं बनाने पर इस तरह की बचकानी बाते करते हैं। गौरतलब है कि महाराष्ट्र में किसी भी बड़ी पार्टी द्वारा बहुमत साबित नहीं करने पर अभी वहां राष्ट्रपति शासन लागू है।

सिब्बल का बयानः मामले में बयान देते हुए नेता कपिल सिब्बल ने कहा, ‘अमित शाह को इस मामले में काफी एक्सपीरियंस हैं। वह जानते हैं कि राजनीतिक दल को किस तरह तोड़ा और जोड़ा जाता है। हमने इसकी झलक कई राज्यों में देखी है, फिर चाहे वो गोवा हो या फिर कर्नाटक।’ बता दें कि राज्य में राष्ट्रपति शासन लगने के बाद विपक्ष ने बीजेपी और राज्यपाल पर आरोप भी लगाया था कि सरकार बनाने के लिए उन्हें सही से मौका और ज्यादा समय नहीं दिया गया था।

Hindi News Today, 14 November 2019 LIVE Updates: देश-दुनिया की हर खबर पढ़ने के लिए यहां करें क्लिक

अमित शाह- सरकार बनाने का सभी को मिला था पूरा मौकाः गृह मंत्री अमित शाह ने कपिल सिब्बल के आरोपों को गलत ठहराते हुए कहा था कि विपक्ष को पूरा मौका दिया गया था सरकार बनाने के लिए लेकिन विपक्ष के साथ बीजेपी भी इसमें नाकाम रही है। यह कारण है कि राज्य में राष्ट्रपति शासन लागू हुआ है। बता दें कि इससे पहले सिब्बल बीजेपी और राज्यपाल पर यह आरोप लगाया था कि उनसे सरकार बनाने का मौका छिना गया है। इस पर जवाब देते हुए अमित शाह ने कहा था कि सिब्बल बचकानी बातें कर रहे हैं।

महाराष्ट्र में लागू हुआ राष्ट्रपति शासनः बता दें कि महाराष्ट्र में सरकार बनाने के लिए बीजेपी के साथ विपक्ष ने भी अपना पूरा जोर लगा दिया था। लेकिन बहुमत नहीं साबित करने के कारण वहां राष्ट्रपति शासन लागू हुआ है। ऐसे में सभी विपक्षी पार्टियां इसका जिम्मेदार बीजेपी और राज्यपाल को ठहरा रही है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 Maharashtra में President Rule लगाना पहले से तय था, अब मगरमच्छ के आंसू बहा रहे हैं फडणवीस; शिवसेना का तंज
2 Maharashtra: अमित शाह ने शिवसेना, कांग्रेस और एनसीपी पर साधा निशाना, कहा- अब सरकार बनाकर दिखाओ
3 Odisha: झींगा प्रोसेंसिंग प्लांट में जहरीली गैस हुई लीक, सैकड़ों लोग पड़े बीमार; अस्पताल में भर्ती
जस्‍ट नाउ
X