ताज़ा खबर
 

पंजाब में कांग्रेस सरकार ने काट दिए गए गौशालाओं की बिजली के कनेक्शन, BJP ने कराई थी उपलब्ध!

पंजाब की पिछली अकाली भाजपा सरकार के शासन के दौरान राज्य की सभी गौशालाओं में शुरू की गई मुफ्त बिजली व्यवस्था नयी सरकार के गठन के बाद खत्म हो गई है ।
Author जालंधर | April 12, 2017 18:36 pm
पंजाब की पिछली अकाली भाजपा सरकार के शासन के दौरान राज्य की सभी गौशालाओं में शुरू की गई मुफ्त बिजली व्यवस्था नयी सरकार के गठन के बाद खत्म हो गई है

पंजाब की पिछली अकाली भाजपा सरकार के शासन के दौरान राज्य की सभी गौशालाओं में शुरू की गई मुफ्त बिजली व्यवस्था नयी सरकार के गठन के बाद खत्म हो गई है । अब गौशालाओं को बिजली के बिल भेजे जा रहे हैं और कई स्थानों पर पैसे न मिलने के कारण बिजली के कनेक्शन भी काट दिये गए हैं। दूसरी ओर, राज्य सरकार के बिजली मंत्री ने ऐसी किसी बात की जानकारी होने से इंकार किया है ।
पंजाब राज्य गौसेवा आयोग तथा विपक्षी भारतीय जनता पार्टी ने प्रदेश की कैप्टन अमरिंदर सिंह की सरकार से गौशालाओं में बिजली के कनेक्शन बहाल करवाने तथा बिजली मुफ्त देने की पिछली सरकार की व्यवस्था को जारी रखने का आग्रह किया है ।

पंजाब गौसेवा आयोग के चेयरमैन कीमती लाल भगत ने ‘भाषा’ से बातचीत में कहा, ‘‘कैप्टन अमरिंदर सिंह की अगुवाई वाली राज्य की कांग्रेस सरकार से मेरा आग्रह है कि गोधन की सुरक्षा और सेवा के लिए प्रदेश की गौशालाओं में मुफ्त बिजली की व्यवस्था बहाल की जाए । कैप्टन के पिता और पूर्वजों ने गौेसेवा के लिए न केवल जमीन दी थी बल्कि धन भी देते थे ।’ कीमती ने कहा, ‘‘प्रदेश में 472 गौशालाएं हैं जिनमें प्रदेश की पिछली गठबंधन सरकार ने मुफ्त बिजली की व्यवस्था की थी । अब लगभग आधी गौशालाओं में बिजली के बिल भेज दिए गए हैं और पांच की बिजली काट दी गयी है । दूसरी ओर राज्य सरकार के बिजली मंत्री राणा गुरजीत सिंह ने कहा है कि उन्हें इस मामले की कोई जानकारी नहीं है और बगैर जानकारी के वह इस बारे में कुछ नहीं कह सकते हैं ।

राणा ने कहा, ‘‘मुझे इस बारे में कोई जानकारी नहीं है । मैं इसकी जानकारी लेने के बाद ही इस बारे में कुछ कहूंगा । मुझे पता करने दीजिए ।’’
यह पूछने पर कि गौशालाओं में मुफ्त बिजली की व्यवस्था बहाल रहेगी, राणा ने कहा कि जब उन्हेें इस बारे में कुछ पता ही नहीं है तो वह कैसे कुछ कह सकते हैं । वह इस बारे में जानकारी लेंगे और उसके बाद ही कुछ कहने की स्थिति में आयेंगे । इससे पहले संघ से भाजपा में आए प्रदेश प्रवक्ता राकेश शांतिदूत ने कहा, ‘‘पिछली सरकार ने गौसेवा के लिए मुफ्त बिजली देने की जो व्यवस्था बनायी थी नयी सरकार को भी उसे बहाल रखना चाहिए क्योंकि गौसेवा पूरे समाज और राष्ट्र की सेवा है ।

मुख्यमंत्री से मेरा आग्रह है कि बिना किसी देरी के इस पर विचार करते हुए पिछली सरकार की व्यवस्था को तत्काल प्रभाव से बहाल करें ।’’
कीमती ने विस्तार से बताया, ‘‘राज्य के 472 गौशालाओं का बिजली बिल एक साल में चार करोड 57 लाख रुपया बनता है । पिछली सरकार ने इस बारे में बजट पास करते हुए प्रत्येक तीन महीने पर चार किश्तों में बिजली विभाग को ये रुपये देने की व्यवस्था की थी ।’

उन्होंने बताया कि पिछली तिमाही का रुपया आने के बाद प्रदेश में आचार संहिता लागू हो गई । बाद में सरकार बदल गयी और गौशालाओं को बिजली के बिल भेजे जाने लगे । कुछ की बिजली काट दी गई है। इनमें फिरोजपुर की एक तथा मोगा और बठिंडा की दो दो गौशालाएं शामिल हैं । कीमती ने कहा, ‘‘मैने सभी गौशालाओं से कहा है कि वह बिजली के बिल जमा नहीं करवायें क्योंकि यह सरकार की ओर से हुई तकनीकी गडबडी है ।’’

बीजेपी यूथ विंग के नेता ने कहा- "ममता बनर्जी का सिर काटकर लाने वाले को 11 लाख रुपए दूंगा"

पंजाब के वित्त मंत्री मनप्रीत बादल ने रिश्वत ले रहे ट्रैफिक पुलिस को रंगे हाथों पकड़ा

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.