उत्तर प्रदेश चुनाव: BJP की काट के लिए कांग्रेस तैयार कर रही RSS की तर्ज पर कार्यकर्ताओं की फौज

उत्तर प्रदेश के आगामी विधानसभा चुनावों के लिए कांग्रेस अब ‘RSS’ की तर्ज पर खास कार्यकर्ताओं की एक फौज तैयार कर रही है। कांग्रेस का मानना है कि RSS और बीजेपी के ‘झूठे एजेंडे’ से लड़ने का एकमात्र यही तरीका है।

Priyanka Gandhi UP Congress
प्रियंका गांधी और उत्तर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू (फाइल)- Source- Indian Express

उत्तर प्रदेश के आगामी विधानसभा चुनावों के लिए कांग्रेस अब ‘RSS’ की तर्ज पर खास कार्यकर्ताओं की एक फौज तैयार कर रही है। कांग्रेस का मानना है कि RSS और बीजेपी के ‘झूठे एजेंडे’ से लड़ने का एकमात्र यही तरीका है। इसके लिए कुछ खास कार्यकर्ताओं को चुना गया है, जोकि कांग्रेस पार्टी की विचारधारा पर विश्वास रखते है। इनको ट्रेनिंग देने के इरादे से एक बुकेलेट भी तैयार की गई है, जिसमें कुल 14 चैप्टर हैं। पार्टी के मुताबिक हर अध्याय में BJP-RSS द्वारा फैलाए गए झूठ और आरोप की सच्चाई बताई गई है।

कांग्रेस की बुकलेट का पहला अध्याय राष्ट्रवाद को लेकर ही है। यहां पार्टी अपने कार्यकर्ताओं को BJP-RSS के उस प्रचार के बारे में समझा रही है, जिसके अनुसार “कांग्रेस पार्टी राष्ट्रविरोधी गतिविधियों का समर्थन करती है जबकि भारतीय जनता पार्टी एक राष्ट्रवादी पार्टी है”। बुकलेट में अगला अध्याय BJP के लोकप्रिय प्रचार का है, जिसके अनुसार “जवाहरलाल नेहरु ने सरदार बल्लभभाई पटेल को प्रधानमंत्री नहीं बनने दिया था”। पार्टी यहां एक-एक अध्याय के जरिए कार्यकर्ताओं को समझाने की कोशिश कर रही है कि किस तरह से कांग्रेस के खिलाफ माहौल तैयार किया ।

कांग्रेस ने अपनी बुकलेट में इसी तरह के कई मुद्दों को शामिल किया। जिसमें “अगर पटेल प्रधानमंत्री होते तो देश को कई मुद्दों का सामना ही नहीं करना पड़ता”। “कांग्रेस ने पिछले 70 सालों में कुछ नहीं किया”। “महात्मा गांधी और कांग्रेस नेताओं ने भगत सिंह की फांसी को रोकने के लिए कुछ नहीं किया”। “नेहरू ने धारा 370 को लागू करके कश्मीर को भारत से अलग रखा”। “कश्मीरी पंडितों पर अत्याचार के लिए कांग्रेस जिम्मेदार थी”। “कांग्रेस ने आतंकियों को बिरयानी खिलाई” जैसे मुद्दे शामिल हैं। इस बुकलेट का टाइटेल ‘हम कांग्रेस के लोग-दुष्प्रचार और सच’ है।

कांग्रेस के एक सीनियर नेता ने समाचार पत्र टाइम्स ऑफ इंडिया से इस मामले पर बात करते हुए कहा कि हमें कुछ ‘झूठे प्रचार’ का मुकाबला करने के लिए कांग्रेस की विचारधारा पर यकीन रखने वाले कार्यकर्ताओं की जरूरत है। उन्होंने कहा कि राज्य में हम पिछले तीन दशकों से सत्ता से बाहर है, लिहाजा 2022 के पहले RSS जैसा संगठन बनाने की कोशिश कर रहे हैं।

कांग्रेस नेता ने बताया कि इस कॉन्सेप्ट ने हमें छत्तीसगढ़ में फायदा पहुंचाया था, जहां भूपेश बघेल की अगुवाई में एक सफल सरकार चल रही है। उन्होंने बताया कि छत्तीसगढ़ में ग्राम पंचायत स्तर पर काडर तैयार किया गया है।

कांग्रेस नेता ने बताया कि इसे तीन भागों में बांटा गया है। जहां सोशल मीडिया की देखरेख पूर्व पत्रकार और अब कांग्रेस नेता विनोद वर्मा करते हैं, वहीं बूथ और ग्राम पंचायत स्तर पर मजबूती देने का नाम कांग्रेस सचिव राजेश तिवारी के मार्गदर्शन में किया गया तो वहीं र्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की भतीजी करुणा शंकर शुक्ला की अगुवाई में पॉलिटिकल ढांचा तैयार किया गया था।

यूपी कांग्रेस के कार्यकर्ताओं को ट्रेनिंग की जिम्मेदारी राजेश तिवारी को ही दी गई है। पिछले दिनों उन्हें प्रियंका गांधी की टीम के साथ जोड़ा गया था। इसके अलावा उत्तर प्रदेश के कार्यकर्ताओं के ट्रेनिंग की देखरेख संदीप सिंह भी कर रहे हैं जोकि प्रियंका गांधी के राजनीतिक सलाहकार भी हैं। सूत्रों के अनुसार पार्टी ने ब्लॉक लेवल पर ट्रेनिंग प्रोग्राम पूरा कर लिया है।

यूपी कांग्रेस के कार्यकर्ताओं को ट्रेनिंग की जिम्मेदारी राजेश तिवारी को ही दी गई है। पिछले दिनों उन्हें प्रियंका गांधी की टीम के साथ जोड़ा गया था। इसके अलावा उत्तर प्रदेश के कार्यकर्ताओं के ट्रेनिंग की देखरेख संदीप सिंह भी कर रहे हैं जोकि प्रियंका गांधी के राजनीतिक सलाहकार भी हैं। सूत्रों के अनुसार पार्टी ने ब्लॉक लेवल पर ट्रेनिंग प्रोग्राम पूरा कर लिया है। करीब 18 हजार लोगों को यह ट्रेनिंग दी जा चुकी है, 20 सितंबर तक अन्य की ट्रेनिंग भी पूरी होने की संभावना है। सूत्रों के अनुसार पार्टी की कोशिश है कि नवंबर महीने तक कम से कम 2 लाख काडर बनाया जाए।

पढें राज्य समाचार (Rajya News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।