ताज़ा खबर
 

कांग्रेस का आरोप- सीएम शिवराज सिंह चौहान ने 12 साल में झूठ बोलने का बनाया विश्व रिकॉर्ड

विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह ने कहा कि मुख्यमंत्री चौहान को ढोंग करने, वादाखिलाफी करने, बनावटी बातें करने, निवेश के बहाने सबसे अधिक विदेश यात्रा करने वाले के रूप में उन्हें याद किया जाएगा।

Author भोपाल | November 28, 2017 7:43 PM
मध्य प्रदेश के सीएम शिवराज सिंह चौहान। (ANI Photo)

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के मुख्यमंत्रित्व काल के बुधवार को 12 साल पूरे हो रहे हैं, वे राज्य के पहले ऐसे मुख्यमंत्री है, जिन्होंने यह कीर्तिमान रचा है। चौहान के बतौर मुख्यमंत्री 12 साल पूरे होने पर कांग्रेस ने तंज कसते हुए कहा है कि इन 12 सालों में उनकी सबसे बड़ी उपलब्धि झूठ बोलने की है और उसमें उन्होंने विश्व रिकॉर्ड बनाया है। विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह ने मंगलवार को कहा कि मुख्यमंत्री चौहान ने 12 साल में सबसे अधिक झूठ बोलने का विश्व रिकॉर्ड बनाया। ढोंग करने, वादाखिलाफी करने, बनावटी बातें करने, निवेश के बहाने सबसे अधिक विदेश यात्रा करने वाले के रूप में उन्हें याद किया जाएगा।

उन्होंने मुख्यमंत्री को चुनौती दी की वे 12 साल के बाद बताएं कि उनके द्वारा जिस किसान की बात की जाती हैं, क्या वे खुश हैं? जिन महिलाओं की बात करते हैं वे सुरक्षित हैं और वे जिस ईमानदारी की बात करते हैं तो पूरे प्रदेश में एक भी विभाग, एक मंत्री के बारे में कहें कि वह भ्रष्टाचार मुक्त है और यह भी बताएं कि उनके प्रदेश का युवा बेरोजगार नहीं हैं। नेता प्रतिपक्ष सिंह ने कहा कि पिछले 12 साल में मुख्यमंत्री ने इस प्रदेश की जनता की गाढ़ी कमाई का पैसा यात्राओं, उत्सवों, समारोह और अपने धरने-उपवास करने पर खर्च किया है। शिवराज ने सुशासन के बजाय प्रशासनिक दादागिरी करके जनता के पैसों से खुद की तारीफ करने के लिए कार्यक्रम किए और झूठ बोला कि यह कार्यक्रम जनता स्वयं कर रही है। अब सारा झूठ बेनकाब हो गया है। जनता के सामने पोल खुल चुकी है।

सिंह ने आगे कहा कि पिछले बारह सालों में खुद की तारीफ करने के लिए कार्यक्रमों पर जितने पैसे खर्च हुए उतने में बारह लाख युवाओं को आसानी से रोजगार स्थापित करने में मदद दी जा सकती थी। सिंह का आरोप है कि शिवराज ने हर मोर्चे पर झूठ बोला है। ताजा झूठ यह है मध्य प्रदेश की सड़कें वाशिंगटन से अच्छी हैं। अब जनता जानती है कि कितना बड़ा झूठ है। प्रधानमंत्री मोदी के बाद सबसे ज्यादा विदेश दौरा करने वाले मुख्यमंत्री शिवराज हैं। पिछले सालों में निवेश लाने के बहाने सभी प्रमुख देशों का पर्यटन किया। सच्चाई यह है कि न तो निवेश आया और न ही युवाओं को रोजगार मिला। यदि मिला होता तो पटवारी बनने के लिए दस लाख आवेदक नहीं आते।

सिंह ने कहा कि चौहान सिर्फ झूठी बातें करते हैं, कहते हैं कि खेती को फायदे का धंधा बनान चाहते हैं, किसान जब हक मांगता है तो गोलियां चलाकर हत्या करवा देते हैं। प्रदेश की कृषि विकास दर दुनिया में सबसे ज्यादा है तो यहां किसान आत्महत्याएं क्यों करते हैं। सिंह ने चौहान द्वारा दूध डेयरी शुरू करने की खबरें सामने आने पर कहा है कि अब शिवराज दूध डेयरी का धंधा खोलने जा रहे हैं और इधर कुपोषित बच्चों को खाना तक नसीब नहीं हो रहा है। रेत माफिया के हौसले इतने बुलंद हैं कि आए दिन सरकारी अमले पर हमला कर रहा है। इसके दो ही कारण हैं, या तो सरकार का संरक्षण मिला है या प्रशासन अक्षम है।

उन्होंने आगे कहा कि इस बात से कोई इंकार नहीं कर सकता है कि व्यापम जैसा महाघोटाला सरकार के सानिध्य में ही संभव है। एक मंत्री को जेल भी हुई। बेटियों की सुरक्षा करने वाले मुख्यमंत्री को इस बात की चिंता ही नहीं है कि, प्रदेश की तीन हजार बेटियां कहां गायब हो गईं। बेटियां खौफ के माहौल में जीने केा मजबूर हैं। नर्मदा नदी की गोद उजाड़ देने वाले शिवराज अब नर्मदा को बचाने की बात कर रहे हैं। जब नर्मदा मैया को जीवित इंसान का दर्जा दे दिया है तो उसका पानी दूसरी नदियों में किसकी इजाजत से डाल रहे हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App