ताज़ा खबर
 

उत्तर प्रदेश: कहासुनी के बाद सांप्रदायिक झड़प, संघ संयोजक हिरासत में

दोनों समुदायों के सदस्यों ने छतों से एक दूसरे पर पथराव किया और पांच मोटरसाइकिलों में आग लगा दी। गंज इलाके तथा शहर के अन्य संवेदनशील क्षेत्र में पुलिस बल तैनात किया गया है।

Author रामपुर (उत्तरप्रदेश) | Published on: June 3, 2016 9:38 PM
communal violence, communal violence Rampur, rss communal violence, Uttar Pradesh communal violenceएक समुदाय के लोगों ने रिपोर्ट में घरों में घुसकर लोगों के साथ बदसलूकी का आरोप लगाया तो दूसरे पक्ष ने घर के सामानों में आग लगा देने का आरोप लगाया। (गूगल मैप)

पैसे के मामले को लेकर दो लोगों के बीच कहासुनी के बाद यहां नजदीक के एक इलाके में दो समुदायों के सदस्यों के बीच झड़प और आगजनी हुई। जिला मजिस्ट्रेट राकेश कुमार सिंह ने बताया कि एक हज्जाम के सहायक और एक ग्राहक के बीच गर्मागर्म बहस के बाद यह घटना हुई। उसने ग्राहक से पहले का 100 रुपए मांगा। दोनों समुदायों के सदस्यों ने छतों से एक दूसरे पर पथराव किया और पांच मोटरसाइकिलों में आग लगा दी।

पुलिस प्रमुख संजीव त्यागी के नेतृत्व में एक टीम के साथ डीएम घटनास्थल पर पहुंचे जिसके बाद हालात पर काबू पाया गया। डीएम के हस्तक्षेप के बाद दोनों समूह लिखित में अपना अपना पक्ष रखने पर राजी हुआ। एक समुदाय के लोगों ने रिपोर्ट में घरों में घुसकर लोगों के साथ बदसलूकी का आरोप लगाया तो दूसरे पक्ष ने घर के सामानों में आग लगा देने का आरोप लगाया।

पुलिस ने उपद्रवियों द्वारा आग लगाई गई बाइकों को बरामद कर लिया है। डीएम ने दावा किया कि हालात तनावपूर्ण लेकिन नियंत्रण में है और गंज इलाके तथा शहर के अन्य संवेदनशील क्षेत्र में पुलिस बल तैनात किया गया है। बहरहाल, शहर के आरएसएस के संयोजक सुंदर लाल सिंघानिया को पुलिस ने हिरासत में ले लिया।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 महाराष्ट्र: खुदकुशी की कोशिश करने वाले किसान पर मामला दर्ज, कर्ज नहीं चुकाने से था परेशान
2 मथुरा हिंसा: मारे गए SP के लिए CM ने किया मुआवजे का एलान, मां ने कहा- 20 लाख मैं देती हूं, मेरा बेटा ला दो
3 स्‍वाधीन सुभाष सेना: जो कर रही है 1 रुपये लीटर पेट्रोल-डीजल देने और सोने के सिक्‍के चलाने की मांग
ये पढ़ा क्या?
X