ताज़ा खबर
 

ओडिशा: मूर्ति विसर्जन को लेकर 3 शहरों में सांप्रदायिक तनाव, राउरकेला में तोड़ी गई गणेश प्रतिमा

सोमवार रात 11 बजे जब गणेश प्रतिमाएं नाला रोड इलाके में पहुंची तो कुछ लोगों ने पत्थर फेंकने शुरू दिए, इससे एक प्रतिमा टूट गई। गुस्साए लोगों ने मौके पर एक कार को आग के हवाले कर दिया।

Author भुवनेश्रर | September 13, 2016 12:07 PM
उड़ीसा के सोरो शहर में सांप्रदायिक तनाव के बाद लागू कर्फ्यू (Express Photo)

ओडिशा में भगवान गणेश और एक अन्य स्थानीय देवता के विसर्जन जुलूस के दौरान दो समुदाय आमने-सामने आ गए हैं, जिसके कारण सांप्रदायिक तनाव उत्पन्न हो गया है। सांप्रदायिक तनाव तीन जिलों को अपनी चपेट ले चुका है। राउरकेला शहर में सोमवार रात को भगवान गणेश की प्रतिमा विसर्जन जुलूस के दौरान कुछ अराजक तत्वों ने भगवान गणेश की प्रतिमा पर अचानक पथराव शुरू कर दिया, जिसके बाद से पूरे इलाके में तनाव फैल गया। विरोध में लोगों ने कुछ गाड़ियों को आग के हवाले कर दिया। तनाव को देखते हुए राउरकेला शहर में सीआरपीसी की धारा 144 लागू कर दी गई है।

सोमवार रात 11 बजे जब गणेश प्रतिमाएं नाला रोड इलाके में पहुंची तो कुछ लोगों ने पत्थर फेंकने शुरू दिए, इससे एक प्रतिमा टूट गई। गुस्साए लोगों ने मौके पर एक कार को आग के हवाले कर दिया और दो स्कूटरों को क्षतिग्रस्त कर दिया। दोनों समुदाय की ओर से दुकानों में तोड़फोड़ और वाहनों को क्षतिग्रस्त किया गया। स्थिति को संभालने के लिए पुलिस को लाठीचार्ज करना पड़ा।

इसी तरह केंद्रपाड़ा जिले के पट्टामुंडई में लाउडस्पीकर और मूर्ति विसर्जन के दौरान ड्रम बजाने का विरोध करने को लेकर लोग सड़क पर उतर आए। एक हजार से ज्यादा लोगों ने पट्टामुंडई-राजनगर रोड बंद करके उन लोगों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने की मांग की, जिन्होंने लाउडस्पीकर का प्रयोग करने से रोकने की मांग की थी। केंद्रपाड़ा के एसपी नीतीनजीत सिंह ने बताया कि हालात काबू में है। हमने तनाव को देखते हुए सुरक्षा बलों को तैनात किया गया है।

वहीं बालासोर ने सोरो में पुलिस ने तीन दिन पहले हुई सांप्रदायिक घटना के बाद लगे कर्फ्यू को हटा लिया है। बालासोर के एसपी ने बताया कि धारा 144 अभी भी लागू है, ईद को देखते हुए इसमें कुछ घंटों की छूट दी गई है। उन्होंने कहा कि अल्पसंख्यक समुदाय को सामूहिक प्रार्थना की मंजूरी दी गई हैं लेकिन किसी भी तरह का जुलूस निकालने की अनुमति नहीं दी गई है। शुक्रवार की शाम को भगवान गणेश की प्रतिमा के विसर्जन के दौरान दो समुदायों के लोगों के बीच झड़प हो गयी। कल रात स्थिति उस समय और बिगड़ गई जब कुछ शरारती तत्वों ने सात दुकानों में आग लगा दी। पुलिस ने इस मामले में नौ लोगों को अब तक गिरफ्तार किया है।

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App