ताज़ा खबर
 

दो गुटों में मारपीट, आगजनी के बाद से हावड़ा में साम्प्रदायिक तनाव बरकरार, 25 हिरासत में लिए गए

पुलिस अधिकारी के मुताबिक दंगा फैलाने और इलाके में साम्प्रदायिक सद्भाव बिगाड़ने का एक केस दोनों समुदाय के लोगों के खिलाफ दर्ज किया गया है। फिलहाल स्थिति तनावपूर्ण लेकिन नियंत्रण में है।

Author December 17, 2016 9:04 AM
एक कार को आग के हवाले कर दिया गया। (Photo Source: Indian Express)

पश्चिम बंगाल की राजधानी कोलकाता से जुड़े हावड़ा के धूलगढ़ में साम्प्रदायिक तनाव बरकरार है। मोहम्मद साहब की जयंती के मौके पर निकाले गए जुलूस पर एक गुट ने हमला कर दिया था उसके अगले अगले दिन प्रतिशोध की कार्रवाई में कई मकानों और दुकानों में आग लगा दी गई थी। प्रशासन ने मंगलवार को हिंसा भड़कने के बाद से अब तक 25 लोगों को हिरासत में लिया है। पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, “मुस्लिम यह कहते हैं कि उनके जुलूस पर कुछ हिन्दुओं ने घात लगाकर हमला किया और जुलूस को बाधित करने की कोशिश की। फिलहाल हिंसा नियंत्रित है। हमने कुछ लोगों को हिरासत में लिया है।”

आरोप है कि मिलाद-उन-नबी के अगले दिन कुछ मुस्लिम युवकों ने हिन्दुओं के मकान और दुकान पर हमला कर उसमें आग लगा दी। पुलिस अधिकारी ने कहा, “पुलिस ने वहां पहुंचकर हालात को सामान्य किया और भीड़ को तितर-बितर किया। लेकिन उसके दो घंटे बाद वहां हालात बिगड़ गए। दोनों पक्षों के दंगाई आमने-सामने हो गए और पुलिस से भी उलझ गए। वे लोग बम लेकर आए थे। हमलोगों ने आंसू गैस के गोले छोड़े। अंत में हमें हालात पर काबू पाने के लिए बल का प्रयोग करना पड़ा।”

पुलिस अधिकारी के मुताबिक दंगा फैलाने और इलाके में साम्प्रदायिक सद्भाव बिगाड़ने का एक केस दोनों समुदाय के लोगों के खिलाफ दर्ज किया गया है। फिलहाल स्थिति तनावपूर्ण लेकिन नियंत्रण में है। धूलागढ़ में शांति बनाए रखने के लिए पुलिस और रैपिड एक्शन फोर्स के जवान तैनात हैं। इंडियन एक्सप्रेस को हावड़ा के संकरैल के तृणमूल कांग्रेस विधायक सीतल कुमार सरदार ने बताया, “हां, वहां दो समुदायों के बीच कुछ तनाव था लेकिन दोनों ही पक्ष के लोगों ने पुलिस के साथ बैठकर मामले को सुलझा लिुया है और अब इलाके में शांति है।”

वीडियो देखिए- हंगामे की भेंट चढ़ा संसद का विंटर सेशन, एक भी दिन क्यों नहीं हुआ काम? जानिये

वीडियो देखिए- पश्चिम बंगाल: एटीएम से पैसे नहीं निकले, तो लोगों ने की पत्थरबाज़ी

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App