सर्दी का सितमः मध्य प्रदेश के 16 जिलों में शीतलहर और कोहरे का कहर, खजुराहो में 2 डिग्री तक पहुंचा पारा

मध्य प्रदेश में ठंडी हवाओं ने कंपकंपी बढ़ा दी है। 16 जिलों में शीतलहर का कहर लोगों को जमकर परेशान कर रहा है।

सर्दी में ठिठुरन से बचने के लिए अलाव लगाते लोग (प्रतीकात्मक तस्वीर- इंडियन एक्सप्रेस)

मध्य प्रदेश में सर्दी का सितम पूरे शबाब पर है। राज्य के 16 जिलों में शीतलहर जमकर कहर बरपा रही है। अधिकांश इलाकों में कोहरे के चलते मुसीबतें बढ़ रही हैं। मौसम विभाग के मुताबिक दो दिनों तक मौसम ऐसा ही रहने का अनुमान है। इसके बाद थोड़ी राहत मिलने की उम्मीद है। प्रदेश में सबसे कम तापमान खजुराहो में (2 डिग्री सेल्सियस) दर्ज किया गया।

इन जिलों में बरपा ज्यादा कहर

रतलाम, नीमच, शाजापुर, उज्जैन, छिंदवाड़ा, रीवा, शहडोल, टीकमगढ़, होशंगाबाद, ग्वालियर, छतरपुर, पन्ना, मंडला, जबलपुर, बैतूल, सिवनी में शीतलहर चल रही है। यहां तापमान में कमी के साथ ही ठंडी हवाओं से भी लोगों को खासी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। शहर में सार्वजनिक स्थानों पर भी अलाव की संख्या तेजी से बढ़ती जा रही है।

भोपाल में ठंड से एक की मौत

राजधानी भोपाल में भी खासी ठिठुरन महसूस की गई। यहां रेलवे स्टेशन के नजदीक फुटपाथ पर सोए एक शख्स की ठंड लगने के चलते मौत होने का मामला भी सामने आया है। राजधानी में दिन के समय पारा करीब एक हफ्ते से छह से आठ डिग्री के बीच में है।

…इसलिए बढ़ी मौसम की ठंडक

मौसम विशेषज्ञों के मुताबिक उत्तर भारत में बर्फ के चलते उठ रही सर्द हवाओं के साथ ही आसमान साफ होने से पारा तेजी से गिर रहा है। गौरतलब है कि हफ्ते भर पहले आए समुद्री तूफान पे-ती का आंशिक असर मध्य प्रदेश पर भी देखने को मिला था। इसके बाद से ही वहां कड़ाके की सर्दी का दौर जारी है। तापमान लंबे समय से कम ही बना हुआ है।

Next Stories
1 उत्तर भारतीयों को ‘धरती की गंदगी’ कहने वाले गोवा के मंत्री ने अब कोंकणी के लिए दी विमानों की लैंडिंग रोकने की धमकी
2 महाराष्ट्र: गोरेगांव में गिरी निर्माणाधीन इमारत, 3 की मौत 6 घायल
3 राम मंदिर पर योगी आदित्यनाथ का बड़ा बयान, युवा कुंभ में बोले- जब भी बनेगा, हम ही बनाएंगे
यह पढ़ा क्या?
X