ताज़ा खबर
 

मध्य प्रदेश: प्राइवेट नौकरियों में स्थानीय लोगों को मिलेगा 70 फीसदी आरक्षण, मुख्यमंत्री कमलनाथ का ऐलान

कांग्रेस ने 2018 में हुए विधानसभा चुनाव में अपने चुनावी घोषणापत्र में स्थानीय लोगों को नौकरियों में आरक्षण देने का वादा किया था।

Congress, Madhya Pradesh Congress, kamalnath, MPCC, Rahul Gandhi, NDA, UPA, Deepak Babaria, chunav, chunav result, chunav result 2019, lok sabha chunav result, lok sabha chunav result 2019, lok sabha election results 2019, election results 2019, election results 2019, news in hindi, nes hindi, hindi news, today hindi news, hindinews, today news in hindi, latest hindi news, latest news in hindi, newshindiमध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ। (Photo: ANI)

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ ने मंगलवार (9 जुलाई 2019) को प्राइवेट नौकरियों में स्थानीय लोगों को 70 फीसदी आरक्षण देने का ऐलान किया। सीएम ने कहा है कि सरकार इसके लिए कानून लाएगी। बेरोजगारी की समस्या से जूझ रहे मध्य प्रदेश के नौजवानों के लिए सरकार का यह कदम काफी अहम माना जा रहा है। विधानसभा में सीएम ने कहा कि ‘राज्य सरकार जो कानून लेकर आएगी उसमें निजी कंपनियों के साथ-साथ सरकारी कंपनियों में भी मध्य प्रदेश के युवाओं के लिए 70 फीसदी आरक्षण अनिवार्य होगा।’

उन्होंने आगे कहा ‘हमने औद्योगिक प्रोत्साहन नीति में पहले ही बदलाव कर दिया है। अब कंपनियों को मध्य प्रदेश में निवेश पर प्रोत्साहन और अन्य लाभ तभी मिलेंगे जब वे मध्य प्रदेश के निवासियों को 70% रोजगार प्रदान करेंगे। हम अब इस संबंध में एक कानून बनाने जा रहे हैं। गुजरात, महाराष्ट्र और पश्चिम बंगाल जैसे राज्यों में प्रतियोगी परीक्षाओं में स्थानीय भाषा का प्रश्नपत्र होता है, जिससे वहां की प्रतियोगी परीक्षाओं में मध्यप्रदेश के युवाओं के लिए अवसर कम हो जाते हैं।’

मालूम हो कि कांग्रेस ने 2018 में हुए विधानसभा चुनाव में अपने चुनावी घोषणापत्र में स्थानीय लोगों को नौकरियों में आरक्षण देने का वादा किया था। मुख्यमंत्री पद की शपथ लेने के बाद नाथ ने उद्योगिक नीतियों में बदलाव कर दिया था जिससे प्राइवेट नौकरियों में स्थानीय युवाओं को 70 फीसदी आरक्षण मिल सके। उन्होंने कहा था कि प्रदेश में स्थानीय आबादी के हिस्से का रोजगार बिहार और उत्तरप्रदेश के लोगों को मिल जाता है।

हालांकि बीजेपी ने सीएम के इस एलान को नौटंकी करार दिया है। सूबे के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि कांग्रेस ने तो मध्य प्रदेश के लोगों को बेरोजगारों भत्ता देने का भी वादा किया था लेकिन अबतक नहीं दिया। सरकार जो कानून बनाने की योजना बना रही है वह सिर्फ उनकी नौटंकी है। सरकार इसके जरिए रोजगार से जुड़े सवालों को दबाना चाह रही है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 West Bengal: केकड़ा पकड़ने गई थी महिला, जंगल में घसीट ले गया बाघ; मौत
2 West Bengal: कक्षा में धक्का-मुक्की कर रहे थे 2 छात्र, संतुलन बिगड़ा और खिड़की से गिर गए नीचे, एक की मौत
3 मुंबई: डिप्रेशन से परेशान थी महिला, पहले दोनों बच्चियों को खिलाया जहरीला खाना, फिर कर लिया सुसाइड
ये पढ़ा क्या?
X