ताज़ा खबर
 

NCERT को सीआईसी की फटकार, पूछा- किताबों में विवेकानंद, बोस पर सामग्री कम क्यों की 

आदेश में आयोग ने एनसीईआरटी से खुलासा करने को कहा है कि क्यों स्वामी विवेकानंद पर कक्षा बारहवीं की इतिहास की किताब में सामग्री 1250 शब्द से घटाकर 37 शब्द कर दी गई और कक्षा आठवीं की किताब से इसे पूरी तरह हटा दिया गया।

Author नई दिल्ली | January 24, 2016 9:05 PM
एनसीईआरटी से खुलासा करने को कहा है कि क्यों स्वामी विवेकानंद पर कक्षा बारहवीं की इतिहास की किताब में सामग्री 1250 शब्द से घटाकर 37 शब्द कर दी गई और कक्षा आठवीं की किताब से इसे पूरी तरह हटा दिया गया। (फाइल फोटो)

सीआईसी ने सुभाष चंद्र बोस जैसे राष्ट्रीय नेताओं और क्रांतिकारियों पर अपनी पाठ्यपुस्तक से सामग्री घटाने के लिए एनसीईआरटी की खिंचाई की और ऐसे फैसले लेने के लिए स्वत: ही खुलासा करने को कहा। आदेश में आयोग ने एनसीईआरटी से खुलासा करने को कहा है कि क्यों स्वामी विवेकानंद पर कक्षा बारहवीं की इतिहास की किताब में सामग्री 1250 शब्द से घटाकर 37 शब्द कर दी गई और कक्षा आठवीं की किताब से इसे पूरी तरह हटा दिया गया।

जयपुर के सूर्यप्रताप सिंह राजावत ने सूचना आयुक्त श्रीधर आर्चायुलू के समक्ष याचिका दायर की थी। उन्होंने एनसीईआरटी किताबों में विख्यात शख्सियतों और क्रांतिकारियों के इतिहास को शामिल नहीं करने की आलोचना की है। सिलसिलेवार आरटीआई आवेदनों और लोक शिकायत आवेदनों में राजावत ने दावा किया है कि एनसीईआरीटी की इतिहास की किताबों में 36 राष्ट्रीय नेताओं और चंद्र शेखर आजाद, अशफाकउल्ला खान, बटुकेश्वर दत्त, राम प्रसाद बिस्मिल जैसे क्रांतिकारियों पर सामग्री ही नहीं है। संतोषजनक जवाब नहीं मिलने पर उन्होंने आयोग का रुख किया।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App