ताज़ा खबर
 

मेनिफेस्टो लॉन्च कर चिराग बोले, नीतीश जीते तो हार जाएगा बिहार, होगी बर्बादी

एलजेपी अध्यक्ष चिराग पासवान ने अपना विजन डॉक्यूमेंट जारी करते हुए राज्य के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर निशाहा साधा है। उन्होंने कहा कि अगर इस बार नीतीश जीते तो बिहार हार जाएगा और बर्बादी होगी।

Author Edited By सिद्धार्थ राय नई दिल्ली | Updated: October 21, 2020 2:23 PM
chirag paswan, chirag paswan ljp, chirag paswan vision document, ljp vision document,Bihar election 2020: एलजेपी अध्यक्ष चिराग पासवान ने अपना विजन डॉक्यूमेंट जारी किया। (file)

बिहार चुनाव में अब ज्यादा वक़्त नहीं बचा है। सभी राजनीतिक दल चुनाव प्रचार में लगे हुए हैं। इसी बीच लोक जनशक्ति पार्टी ने अपना मेनिफेस्टो लॉन्च किया है। एलजेपी अध्यक्ष चिराग पासवान ने अपना विजन डॉक्यूमेंट जारी करते हुए राज्य के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर निशाहा साधा है। उन्होंने कहा कि अगर इस बार नीतीश जीते तो बिहार हार जाएगा और बर्बादी होगी।

पासवान ने कहा “यदि वर्तमान मुख्यमंत्री फिर से इस चुनाव को गलती से जीत जाते है तो हमारा राज्य हार जाएगा। हमारा राज्य फिर से बर्बाद होने की कगार पर खड़ा होगा। मुझे आश्चर्य है कि वह कैसे जातिवाद को बढ़ावा देते हैं। एक ऐसा व्यक्ति जो सांप्रदायिकता को बढ़ावा देता है, उसके नेतृत्व में बिहार के विकास की कल्पना नहीं की जा सकती।” चिराग ने कहा कि नीतीश कुमार प्रदेश में मेरे जैसे युवाओं की टांग खींचने में लगे हैं।

चिराग ने कहा कि नीतीश कुमार के पास अपनी सरकार की कोई उपलब्धि नहीं है. केंद्र सरकार की सारी योजनाओं को अपनी उपलब्धि बता रहे हैं। पहले खुद ही पीएम मोदी का विरोध किया और अब उनके साथ ही खड़े हैं। एलजेपी अध्यक्ष ने कहा “मैं सकारात्मक राजनीति करना चाहता हूं, युवा हूं और दुनिया घूमा हुआ हूं। ऐसे में हमने अपने विजन डॉक्यूमेंट में हर मुद्दे को शामिल किया है, जिससे बिहार की जनता जूझती है।”

चिराग ने कहा कि सीएम अब बिजली पहुँचने के वादा कर रहे हैं और पिछले तीन दशक सिर्फ विकास की बातें हुईं हैं। प्रदेश में नए कारखाने तो खुलना दूर, पुराने ही बंद हो रहे हैं। चिराग ने अपने विजन डॉक्यूमेंट में कहा है कि सरकार बनने पर अलग से प्रवासी मजदूर मंत्रालय बनाया जाएगा, जो दूसरे राज्यों में रहने वाले मजदूरों से संपर्क रखेगा।

घोषणा पत्र में बड़े स्तर पर मेडिकल कॉलेज, इंजीनियरिंग कॉलेज खोलने का वादा किया गया है। पत्र में कहा गया है कि बिहार में अभी स्वास्थ्य की सही सुविधा नहीं है। अस्पतालों में डॉक्टर नहीं है, जबकि नौकरियां खाली पड़ी हैं। नदियों को जोड़ने की योजना पर तेजी से काम होना चाहिए, ताकि बाढ़ और सूखे की समस्या दूर हो सके। पत्र में बिहार को विशेष राज्य का दर्जा दिलाने की बात भी कही गई है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 बिहार चुनाव: यादव बहुल पालीगंज में चिराग पासवान की LJP ने बढ़ाई एनडीए की मुश्किल
2 उच्च शिक्षण संस्थाओं में महिलाओं को आरक्षण, 12वीं में टॉपर छात्राओं को देंगे स्कूटी; बिहार में कांग्रेस ने जारी किया घोषणापत्र
3 हाथरस गैंगरेप: FSL रिपोर्ट पर सवाल उठाने वाले AMU डॉक्टर को योगी सरकार ने काम से हटाया
ये पढ़ा क्या?
X