ताज़ा खबर
 

AIIMS का आंकड़ा, 890 मरीजों में चिकनगुनिया की हुई पुष्टि

एम्स में पिछले दो माह में चिकनगुनिया के करीब 890 मामलों की पुष्टि हुई है।

Author नई दिल्ली | September 9, 2016 1:35 AM

एम्स में पिछले दो माह में चिकनगुनिया के करीब 890 मामलों की पुष्टि हुई है। इससे पता चलता है कि वेक्टर जनित रोग ने किस तरह पूरी दिल्ली को अपनी चपेट में ले लिया है। लोग अस्पतालों का चक्कर काट रहे हैं। राष्ट्रीय राजधानी के कई अस्पतालों में चिकनगुनिया के मामलों में वृद्धि दर्ज हुई है। सफदरजंग अस्पताल में इस मौसम में मलेरिया से एक और डेंगू से तीन लोगों की जान जा चुकी है। इन मामलों में और वृद्धि की संभावना है क्योंकि वेक्टर जनित बीमारियों का अमूमन सितंबर में तेजी से प्रसार होता है।

एम्स के माइक्रोबायोलॉजी विभाग के ललित दार ने बताया कि पिछले दो माह (जुलाई-अगस्त) में एम्स की प्रयोगशालाओं में अब तक 885 लोगों के चिकनगुनिया के जांच पॉजिटिव पाए गए। मामले बढ़ रहे हैं और लोग इसकी चपेट में आ रहे हैं। इस वेक्टर जनित रोग के प्रसार के साथ करीब दस वर्ष के अंतराल के बाद दिल्ली और उत्तर भारत के अन्य इलाकों में चिकनगुनिया के मामलों में अचानक वृद्धि हुई है। इसके अलावा शहर डेंगू से भी जंग लड़ रहा है, जिसके कारण अब तक दिल्ली में नौ लोगों की मौत हो चुकी है।

मलेरिया से अब तक दो लोगों की जान जा चुकी है। सफदरजंग अस्पताल के चिकित्सा अधीक्षक एके राय ने कहा कि इस साल छह सितंबर तक उनके अस्पताल में चिकनगुनिया के 480 और डेंगू के 316 मामलों की पुष्टि हुई है। इस महीने ऐसे मामलों में और वृद्धि होने की संभावना है। हालांकि नगर निगमों के तीन सितंबर के आंकड़ों के अनुसार शहर में अब तक चिकनगुनिया के महज 560 मामलों की पुष्टि हुई है। सभी नगर निगमों के वेक्टर जनित बीमारियों के आंकड़ों को संकलित करने वाले दक्षिणी दिल्ली नगर निगम ने इस मौसम में अब तक 770 लोगों में डेंगू की पुष्टि की है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App