ताज़ा खबर
 

महाराष्ट्र विधानसभा की कैंटीन के शाकाहारी खाने में मिले चिकन के पीस, सरकारी अधिकारी ने की शिकायत

महाराष्ट्र सरकार के एक अधिकारी को परोसे गए शाकाहारी भोजन में चिकन के टुकड़े मिले। सहकारी विभाग में विशेष ऑडिटर महेश लखे द्वारा विधान भवन सचिव को मामले की शिकायत दी।

Author मुंबई | June 20, 2019 11:01 AM
प्रतीकात्मक फोटो फोटो सोर्स- इंडियन एक्सप्रेस

महाराष्ट्र सरकार के एक अधिकारी ने बुधवार (19 जून) को आरोप लगाया कि विधान भवन के परिसर में स्थित कैंटीन में उसे परोसे गए शाकाहारी भोजन में चिकन के टुकड़े मिले। सरकारी कर्मचारी, पत्रकार और नेता अक्सर कैंटीन में खाना खाते हैं क्योंकि राज्य विधानसभा का मानसून सत्र चल रहा है।

खाने में मिले चिकन के टुकड़ेः सहकारी विभाग में विशेष ऑडिटर महेश लखे द्वारा विधान भवन सचिव को मामले की शिकायत दी। शिकायत में उन्होंने कहा कि उनका उपवास था और उन्होंने शाकाहारी भोजन परोसे जाने के लिए कहा था। लखे ने दावा किया कि उन्हें शाकाहारी भोजन में चिकन के टुकड़े मिले थे। इससे पहले एयर इंडिया की एक फ्लाइट में एक शाकाहारी परिवार को मांसाहारी खाना परोसे जाने का मामला सामने आया था। इस मामले में जब क्रू मेंबर्स से शिकायत की गई थी।

National Hindi News, 20 June 2019 LIVE Updates: देश-दुनिया की हर खबर पढ़ने के लिए यहां करें क्लिक

चल रहा है मानसून सत्रः महाराष्ट्र में मानसून सत्र 17 जून से 2 जुलाई तक चलेगा। तीन हफ्ते तक चलने वाले इस सत्र में केवल 12 दिन सदन की कार्रवाई चलेगी। बता दें यह सत्र मौजूदा सरकार के कार्यकाल का आखिरी सत्र है। वहीं महाराष्ट्र कैबिनेट में कांग्रेस और राकांपा के पूर्व नेताओं को शामिल किए जाने के बाद राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी नेता अजीत पवार ने बुधवार को मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस की आलोचना करते हुए कहा कि इस विस्तार में शिव सेना एवं भाजपा के निष्ठावान विधायकों की अनेदेखी की गई है। कांग्रेस छोड़ भाजपा में शामिल होने वाले राधाकृष्ण विखे पाटिल को महाराष्ट्र कैबिनेट में आवास विभाग दिया गया है जबकि पिछले महीने राकांपा छोड़कर शिवसेना में शामिल हुए जयदत्त क्षीरसागर को रोजगार गारंटी एवं बागवानी विभाग दिया गया है। प्रदेश के मुख्यमंत्री ने रविवार को विधानसभा चुनाव से पहले अपने कैबिनेट का विस्तार करते हुए इन नेताओं को शामिल किया था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App