ताज़ा खबर
 

छत्तीसगढ़ चुनाव: मायावती के पार्टनर ने कहा- सीएम मैं बनूंगा, बहनजी पीएम बनेंगी

Chhattisgarh election 2018: छत्तीसगढ़ विधानसभा के 90 सीटों के चुनाव 12 और 20 नवंबर को दो चरणों में होंगे। मायावती-अजीत जोगी गठबंधन को फायदे के साथ देखा जा रहा है क्योंकि विपक्षी दल 2019 के आम चुनाव में भाजपा को हराने के लिए एक बड़े गठबंधन की ओर काम करते रहे हैं।

Ajit Jogi, Mayawati, Chhattisgarh assembly election, Chhattisgarh, Lok Sabha election, Indian Police service (IPS), Indian Administrative Service (IAS), Mayawati Ajit Jogi alliance72 साल के जोगी ने कहा कि, मैंने हमेशा विश्वास किया है कि गैर-कांग्रेस, गैर-बीजेपी गठबंधन का 2019 में बहुमत होगा।

कांग्रेस विद्रोही अजीत जोगी को छत्तीसगढ़ में आने वाले विधानसभा चुनावों और अगले साल की शुरुआत में आम चुनावों में उनकी भूमिका के बारे में कोई संदेह नहीं है। 2000 में मध्य प्रदेश से अलग करके छत्तीसगढ़ बनाए जाने के बाद पहले मुख्यमंत्री के रूप में काम करने वाले अजीत जोगी ने कहा, “हमने बहुजन समाज पार्टी (बीएसपी) और लेफ्ट के साथ गठबंधन किया है। उन्होंने फैसला किया है कि मैं मुख्यमंत्री बनूंगा।” प्रधानमंत्री के रूप में जोगी समान रूप से दृढ़ थे कि बीएसपी नेता मायावती इस टॉप जॉब के लिए सबसे उपयुक्त हैं। 72 साल के जोगी ने कहा कि, “मैंने हमेशा विश्वास किया है कि गैर-कांग्रेस, गैर-बीजेपी गठबंधन का 2019 में बहुमत होगा। उसके बाद फैसला किया जाएगा (पीएम कौन बनेगा) लेकिन मैं व्यक्तिगत रूप से मानता हूं कि मायावती पहली दलित, एक महिला, और उत्तर प्रदेश की राजनेता और चार बार मुख्यमंत्री रह चुकी हैं। वह इसके लिए उचित हैं।”

जोगी एक भारतीय पुलिस सेवा (आईपीएस) और भारतीय प्रशासनिक सेवा (आईएएस) अधिकारी रहे हैं। वह 1986 में राज्यसभा सदस्य बने। कांग्रेस में लगभग तीन दशकों के बाद, उन्होंने पार्टी में अलगाव के बाद 2016 में कांग्रस को छोड़ दिया। कुछ सप्ताह बाद  उन्होंने अपनी पार्टी बनाई। महीनों चली गठबंधन वार्ता के बाद मायावती के साथ समझौता करने में असफल कांग्रेस, डरती है कि इसके विद्रोही नेता और उनके बेटे राज्य चुनावों में पार्टी की संभावनाओं को नुकसान पहुंचा सकते हैं।

बीजेपी विरोधी लहर को देखते हुए पार्टी ने बीजेपी पर एक आसान जीत देखी थी। जोगी ने दावा किया है कि मायावती के साथ चर्चा के कुछ घंटों में उनके गठबंधन ने आकार लिया था। छत्तीसगढ़ विधानसभा के 90 सीटों के चुनाव 12 और 20 नवंबर को दो चरणों में होंगे। मायावती-अजीत जोगी गठबंधन को फायदे के साथ देखा जा रहा है क्योंकि विपक्षी दल 2019 के आम चुनाव में भाजपा को हराने के लिए एक बड़े गठबंधन की ओर काम करते रहे हैं। जोगी ने कहा, “लोग दोनों राष्ट्रीय पार्टियों से तंग आ चुके हैं।”

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 छत्तीसगढ़ चुनावः भाजपा उम्मीदवारों की पहली सूची जारी, एक मंत्री सहित 14 विधायकों के टिकट काटे
2 NRC पर पूर्व कांग्रेस सांसद बोले- सबको रखना चाहिए, छत्तीसगढ़ CM ने कहा- धर्मशाला नहीं बनाना
आज का राशिफल
X