ताज़ा खबर
 

छत्तीसगढ़: मनरेगा श्रमिकों को राज्य सरकार देगी नि:शुल्क टिफिन बॉक्स

लोक सुराज अभियान के तहत सरगुजा संभाग के मुख्यालय अम्बिकापुर में इस नई योजना की घोषणा की।

Author रायपुर | April 8, 2017 5:19 PM
महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना (मनरेगा) के तहत काम करती महिलाएं। (फाइल फोटो)

छत्तीसगढ़ सरकार ने महात्मा गांधी राष्ट्रीय रोजगार गारंटी योजना (मनरेगा) के मजदूरों को नि:शुल्क टिफिन बाक्स देने का फैसला किया है। आधिकारिक सूत्रों ने शनिवार को बताया कि मुख्यमंत्री रमन सिंह ने महात्मा गांधी राष्ट्रीय रोजगार गारंटी योजना (मनरेगा) के तहत राज्य में कार्यरत मजदूरों के लिए एक नई योजना की घोषणा की है। उन्होंने कहा है कि मनरेगा के जॉब कार्ड धारक श्रमिकों को राज्य सरकार स्टेनलेस स्टील के टिफिन के डिब्बे नि:शुल्क दिए जाएंगे, जिससे कि वह अपना भोजन अधिक सुरक्षित ढंग से रखकर काम पर ला सकें। एक अधिकारी द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार मुख्यमंत्री रमन सिंह ने अधिकारियों को इसके लिए कार्य योजना बनाने का निर्देश दिया है।

उन्होंने बताया कि सिंह ने शुक्रवार रात लोक सुराज अभियान के तहत सरगुजा संभाग के मुख्यालय अम्बिकापुर में इस नई योजना की घोषणा की। इस योजना पर बात करते हुए रमन सिंह ने कहा कि अभियान के दौरान तपती हुई दोपहरी में बिलासपुर जिले के गौरखेड़ा गांव में उनकी मुलाकात मनरेगा की महिला मजदूर उर्मिला से हुई, जिसने उन्हें (मुख्यमंत्री को) भोजन कराया। महिला मजदूर अपना भोजन घर से बनाकर लाई थी। सिंह ने कहा कि उसी समय उन्हें लगा कि मनरेगा श्रमिकों के लिए टिफिन बॉक्स देने की योजना शुरू की जानी चाहिए। इसके पीछे का उद्देश्य यह है कि सभी श्रमिकों का खाना दूषित होने से बचे, जिससे कि वे किसी बीमारी की चपेट में न आ पाएं।

राज्य के वरिष्ठ अधिकारियों ने बताया कि मुख्यमंत्री रमन सिंह ने अम्बिकापुर में सरगुजा जिले की समीक्षा बैठक में अधिकारियों से विभिन्न योजनाओं की प्रगति का ब्यौरा लिया और नये वित्तीय वर्ष 2017-18 में सभी योजनाओं के भौतिक और वित्तीय लक्ष्यों को जल्द पूर्ण करने का निर्देश दिया। मुख्यमंत्री के इस फैसले के बाद सभी श्रमिक काफी खुश दिखाई दिए। श्रमिकों का कहना है कि सरकार ने जो फैसला हमारे हित में लिया है वह काफी सराहनीय है। इन टिफिन बोक्स में हम अच्छे से खाने पैक करके ला सकेंगे। इसके बाद हमें पहले की तरह कागज में लपेटकर खाना नहीं लाना पड़ेगा।

देखिए वीडियो - स्वामी विवेकानंद की जयंती पर आयोजित रामदेव के योग शिविर में पांच विश्व रिकॉर्ड बनाने का दावा, सीएम रमन सिंह ने भी लिया हिस्सा

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App