ताज़ा खबर
 

नक्सलियों ने पूर्व सरपंच की ली जान, पुलिस का मुखबिर होने का था शक

इस घटना में गौतम के परिवार का एक सदस्य और एक कर्मचारी मारे गए थे। उन्होंने बताया कि इस मामले में बाद में मंडावी बरी हो गये थे।

Author Published on: June 20, 2017 7:17 PM
इस तस्वीर का इस्तेमाल प्रतीक के तौर पर किया गया है।

छत्तीसगढ़ के दंतेवाड़ा जिले में एक पूर्व सरपंच और कांग्रेस नेता की पुलिस का मुखबिर होने के संदेह में नक्सलियों ने कथित रूप से हत्या कर दी। घटना के बाद कांग्रेस ने राज्य की सत्तारूढ़ भाजपा पर बस्तर जिले में विपक्षी दल के नेताओं को सुरक्षा मुहैया कराने में असफल रहने का आरोप लगाया है। दंतेवाड़ा के पुलिस अधीक्षक कामलोचन कश्यप ने बताया कि 55 वर्षीय छन्नूराम मंडावी चोलनार गांव के पूर्व संरपंच थे। उनकी बीती रात किरंदुल पुलिस थाना क्षेत्र में उनके घर पर तेज धार वाले हथियारों से हमला कर हत्या कर दी गई।

कश्यप ने बताया कि शुरूआती खबरों के अनुसार, यहां से करीब 450 किमी दूर पूर्व सरपंच के घर पर करीब 24 सशस्त्र नक्सलियों ने धावा बोला और सो रहे पूर्व सरपंच का गला काट दिया। मंडावी की मौके पर ही मौत हो गई। सूचना मिलने पर वहां पहुंची पुलिस ने सुबह शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा है।

पुलिस अधिकारी के अनुसार, घटना स्थल से कुछ पर्चे मिले हैं जिनमें मंडावी को पुलिस का मुखबिर बताया गया है। उन्होंने कहा कि हमलावरों की तलाश की जा रही है। पुलिस ने बताया कि मंडावी को दंतेवाड़ा के नकुलनार गांव में वर्ष 2010 मे कांग्रेस नेता अवधेश गौतम के मकान पर हमला करने के सिलसिले में गिरफ्तार किया गया था।

इस घटना में गौतम के परिवार का एक सदस्य और एक कर्मचारी मारे गए थे। उन्होंने बताया कि इस मामले में बाद में मंडावी बरी हो गये थे। मंडावी फिलहाल दंतेवाड़ा जिले में कांग्रेस किसान मोर्चा के अध्यक्ष थे। वह कांग्रेस के वरिष्ठ नेता महेंद्र कर्मा के बेहद करीबी माने जाते थे। गौरतलब है कि 25 मई, 2013 में नक्सली हमले में कर्मा की हत्या कर दी गई थी।

इस बीच प्रदेश कांग्रेस प्रमुख भूपेश बागले ने छत्तीसगढ़ की भाजपा सरकार पर आरोप लगाया है कि वह ‘जानबूझकर’ बस्तर क्षेत्र में कांग्रेस नेताओं को समुचित सुरक्षा मुहैया नहीं करा रही है। उन्होंने संवाददाताओं से कहा, ”ऐसी सूचना थी कि मंडावी नक्सलियों के निशाने पर थे और उन्हें धमकियां भी मिली थीं, इसके बावजूद उन्हें सुरक्षा मुहैया नहीं कराई गई।”

देखिए वीडियो - सुकमा नक्सली हमला: गौतम गंभीर शहीद हुए 25 CRPF जवानों के बच्चों की शिक्षा का खर्च उठाएंगे

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 रमन सिंह के मंत्री के बेटे की शादी में सरकारी डॉक्टरों-कर्मचारियों की लगी ड्यूटी, चिट्ठी हुई वायरल
2 आईआईटी पहुंचा नक्‍सल‍ियों के गढ़ का यह लड़का, 10 महीने में ही उठ गया था प‍िता का साया, लकड़‍ियां चुनती हैं मां
3 जानिए, क्यों एमबीबीएस, एमडी डिग्रीधारी नाम के आगे नहीं लिख सकते हैं ‘डॉक्टर’?
ये पढ़ा क्या?
X
Testing git commit