ताज़ा खबर
 

नक्सल एनकाउंटरः लापता कोबरा कमांडो की पत्नी बोली- पति बाद में पहले जवान, सरकार निभाए जिम्मेदारी

कहा कि सरकार बताए कि हम उनके तक कैसे पहुंचे। हम कैसे अपनी बात उनको बताएं। किससे कहें। किससे मिलें। यह सरकार बताए। जवान राकेश्वर सिंह मनहास के भाई ने कहा कि सरकार अब और देर न करे। उनको छुड़वाए। अभिनंदन को पाकिस्तान से एक दिन बाद ही छुड़वा लिया था, यह तो देश के अंदर ही हैं।

Chhattisgarh Naxal Attackनक्सलियों द्वारा जारी लापता जवान की एक तस्वीर। सीआरपीएफ का दावा है कि जल्द ही उन्हें मुक्त करा लिया जाएगा। (फोटो- एएनआई)

छत्‍तीसगढ़ में बिजापुर नक्सली हमले में लापता सीआरपीएफ जवान राकेश्वर सिंह मनहास की पत्नी मीनू ने सरकार से अपील की है कि उनके पति का जल्द से जल्द पता लगाकर नक्सलियों से मुक्त कराए। जल्दी से जल्दी उनको रिहा कराए। स्टेट गवर्नमेंट मुक्त कराए, केंद्र सरकार कराए। डिपार्टमेंट कराए, कोई न कोई एक्शन जल्दी से लें। क्यों नहीं ले रही है?

मनहास के परिवार ने सरकार से अपील की है कि वह जल्‍द से जल्‍द कोई कदम उठाए और उनकी रिहाई सुनिश्चित कराए। राकेश्‍वर सिंह मनहास की पत्‍नी मीनू ने बुधवार को मीडिया के सामने अपनी बात रखते हुए कहा, ‘अगर कोई जवान अपनी छुट्टी खत्‍म होने के एक दिन बाद रिपोर्ट करता है तो उसके खिलाफ पूरी कार्रवाई की जाती हे। यहां एक जवान शनिवार (3 अप्रैल) से लापता है लेकिन सरकार कोई कदम नहीं उठा रही। हम चाहते हैं कि सरकार किसी मध्‍यस्‍थ को खोजे ताकि उन्‍हें (मनहास को) छुड़ाया जा सके।’

उन्होंने पूछा कि अभी वह जवान नक्सलियों की कस्टडी में है तो कोई एक्शन क्यों नहीं ले रही सरकार। अभी क्या जवान की कोई फिकर नहीं है। उनको यह बात सोचनी चाहिए। ऐसे कैसे होगा?

उन्होंने कहा कि मेरा पति वह बाद में हैं, किसी मां का बेटा बाद में हैं, अभी उनकी रिस्पांसिबिलिटी है, अभी उनका जवान है। अगर वह बीमार होते तो हमारी रिस्पांसिबिलिटी होती कि हम उन्हें डॉक्टर के पास ले जाते। अब तो उनकी रिस्पांसिबिलिटी है कि वह नक्सलियों से उन्हें छुड़ाएं। हम तो वहां जा नहीं सकते हैं, हमारा कोई एप्रोच नहीं है वहां तक कि हम जा सकें।

कहा कि सरकार बताए कि हम उनके तक कैसे पहुंचे। हम कैसे अपनी बात उनको बताएं। किससे कहें। किससे मिलें। यह सरकार बताए। जवान राकेश्वर सिंह मनहास के भाई ने कहा कि सरकार अब और देर न करे। उनको छुड़वाए। ऐसा भी नहीं है कि वह देश के बाहर हैं। वह देश के अंदर ही हैं।

वायु सेना के पायलट अभिनंदन को दूसरे दिन ही पाकिस्तान से वापस इंडिया के अंदर ले आए थे, ये तो हमारे देश के अंदर ही हैं। सरकार से यही अपील है कि जल्द से जल्द उनको वापस नक्सलियों की कस्टडी से मुक्त कराकर यहां ले आएं।

Next Stories
CSK vs DC Live
X