ताज़ा खबर
 

एक नहीं, अनेक राम मंदिर क्यों न बनवा लें, चुनावों में फायदा नहीं मिलने वाला: भाजपा पर बरसीं मायावती

बहुजन समाज पार्टी (बीएसपी) प्रमुख मायावती ने एक बार फिर से भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) पर निशाना साधा है। बीजेपी पर हमला बोलते हुए उन्होंने कहा है कि बीजेपी राम मंदिर बनवाने के मुद्दे से कोई राजनैतिक लाभ नहीं ले सकेगी।

बहुजन समाज पार्टी सुप्रीमो मायावती। (एक्सप्रेस फोटोः विशाल श्रीवास्तव)

बहुजन समाज पार्टी (बीएसपी) प्रमुख मायावती ने एक बार फिर से भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) पर निशाना साधा है। बीजेपी पर हमला बोलते हुए उन्होंने कहा है कि बीजेपी राम मंदिर बनवाने के मुद्दे से कोई राजनैतिक लाभ नहीं ले सकेगी। मायावती शनिवार को छत्तीसगढ़ के बिलासपुर में अपनी रैली जमकर बीजेपी पर बरसीं। रैली में उनके साथ पूर्व कांग्रेस अजीत जोगी ने भी शिरकत की। राज्य के पहले मुख्यमंत्री रहे अजीत जोगी ने पिछले साल कांग्रेस से अलग होकर अपनी पार्टी जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ की स्थापना की थी। अजीत जोगी और मायावती मिलकर राज्य में विधानसभा चुनाव लड़ रहे हैं। इससे पहले कांग्रेस ने बीएसपी के साथ गठबंधन की कोशिश की थी लेकिन मायावती ने अजीत जोगी की पार्टी के साथ जाने का फैसला लिया।

रैली में मायावती ने कहा, “मैं अजीत जोगी जी को भरोसा दिलाना चाहूंगी कि जो सम्मान आपको कांग्रेस के साथ नहीं मिला वह बीएसपी के साथ मिलेगा।” राम मंदिर के मुद्दे को लेकर उन्होंने आगे कहा, “चुनाव के नजदीक आते ही राम मंदिर बनाने का मुद्दा कुछ ज्यादा ही जोर पकड़ रहा है। इस मामले में ये लोग(बीजेपी) चाहें तो पूरे देश में एक नहीं, अनेक राम मंदिर क्यों न बनवा लें तो भी इससे बीजेपी-आरएसएस को कोई राजनीतिक लाभ नहीं होने वाला है।” मायावती ने यह भी कहा कि उनका गठबंधन राज्य में ज्यादा से ज्यादा सीट जीतकर सरकार बनाने की कोशिश करेगा।

छत्तीसगढ़ में आगामी नवंबर महीने में विधानसभा चुनाव होने हैं। चुनाव दो चरणों में होगा। पहले चरण में 12 नवंबर को मतदान होगा, जबकि दूसरे चरण में 20 नवंबर को वोट डाले जाएंगे। छत्‍तीसगढ़ में 90 विधानसभा सीटों के लिए चुनाव होगा। वर्तमान विधानसभा सदस्यों का कार्यकाल 5 जनवरी, 2019 को संपन्न हो जाएगा। छत्‍तीसगढ़ में भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) की सरकार काबिज है। 2013 के चुनावों में बीजेपी ने छत्‍तीसगढ़ में 49 सीट जीती थीं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App