chhattisgarh news, ambikapur news, raipur news, crime news, raipur news youth got alive from graves in chhattisgarh ambikapur - जंगल में जमीन के अंदर हुई हलचल, मिट्टी हटाई तो निकला जिंदा इंसान - Jansatta
ताज़ा खबर
 

जंगल में जमीन के अंदर हो रही थी हलचल, मिट्टी हटाई तो निकला जिंदा इंसान!

यहां एक शख्स को को उसी के रिश्तेदारों ने मारने के इरादे से उसकी खूब पिटाई की। उसके बाद उसे मरा हुआ समझकर यहां बगीचा थाना क्षेत्र के भेड़िया जंगल इलाके में दफ्ना दिया।

चिन्नम्मा हनुमंतपुरा हिन्दू कब्रिस्तान श्रीरामपुरा में कार्यरत हैं और अपने क्षेत्र में वो अन्य महिलाओं के लिए मिसाल के तौर पर उभर रही हैं।

छत्तीसगढ़ के अंबिकापुर मेडिकल कॉलेज अस्पताल में उस वक्त हड़कंप मच गया जब गांववालों ने जमीन के अंदर हलचल होते देखा। लोग डरते हुए उस जगह पर गए और वहां की मिट्टी हटाई तो जमीन के अंदर से एक जिंदा शख्स निकला। लोगों ने आनन-फानन में उस व्यक्ति को अस्पताल में भर्ती कराया जहां उसका इलाज चल रहा है। दरअसल, पूरा मामला बगीचा थाना क्षेत्र के ग्राम बम्बा भंडारपारा का है। यहां एक शख्स को रिश्तेदारों ने मारने के इरादे से उसकी खूब पिटाई की। उसके बाद उसे मरा हुआ समझकर यहां बगीचा थाना क्षेत्र के भेड़िया जंगल इलाके में दफ्न कर दिया। आरोपियों के जाने के बाद जब घायल युवक को होश आया तो उसने मिट्टी हटाकर कब्र से बाहर निकलने की कोशिश की। हालांकि, अब इस इंसान ने मौत से लड़कर कब्र से बाहर निकल कर दूसरी जिंदगी हासिल की है।

बताया जा रहा है कि यह घटना बीते मंगलवार की है। बगीचा थाना क्षेत्र के ग्राम बम्बा भंडारपारा निवासी प्लाजूस मिंज की बहन के साथ विवेक का रिश्ता तय हुआ था। मंगलवार शाम विवेक अपने दूसरे दोस्त के साथ प्लाजूस मिंज के घर पहुंचा। वहां पहुंचकर उसने कहा कि उसे अपने दोस्त को कुछ दूर छोड़कर आना है। यह कहते हुए उसने प्लाजूस को भी साथ में ले लिया।

गांव के एक परिचित का ऑटो लेकर तीनों भेड़िया के जंगल की ओर चले गए। जंगल पहुंचकर विवेक और उसके साथी ने प्लाजूस की जमकर पिटाई की। जानकारी में पता चला है कि दोनों के बीच पहले से ही पुरानी रंजिश थी। इस दौरान कथित रूप से दोनों ने प्लाजूस को जमकर पीटा। काफी देर तक पीटने के बाद उसे मरा हुआ समझकर दोनों ने प्लाजूस को गड्ढे में डाल मिट्टी से ढक दिया।

दोनों के जाने के बाद होश में आते ही प्लाजूस ने गड्ढे से बाहर निकलने की कोशिश की, जिसे ग्रामीणों ने देखा और मदद करते हुए उसे बाहर निकाला। फिर वहीं मेडिकल कॉलेज में उसे एडमिट करा दिया। फिलहाल, युवक की हालत खतरे से बाहर है।

देखिए वीडियो - छत्तीसगढ़ के किसानों ने फ्री में बांटी दी एक लाख किलो सब्जी

ये वीडियो भी देखिए - छत्तीसगढ़ में नोटबंदी पर फूटा किसानों का गुस्सा, सड़क पर फेंके 70 ट्रक टमाटर

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App