ताज़ा खबर
 

छत्तीसगढ़: भाजपा की चौथी बार सरकार बनाने के लिए यज्ञ करेंगे ‘कंबल वाले बाबा’, 3 CR होंगे खर्च

बाबा का दावा है कि राज्य में यज्ञ कराने से चौथी बार भाजपा की सरकार बनाने से कोई नहीं रोक सकता है।

Author Updated: August 30, 2018 4:13 PM
कंबल वाले बाबा पूर्व में सुर्खियों में आ चुके हैं। दरअसल छत्तीसगढ़ के मंत्री राम सेवक पैकरा खुद कंबल बाबा के यहां इलाज के लिए पहुंचे थे।

अखिल भारतीय हिंदू महासभा के प्रदेश अध्यक्ष और कंबल वाले बाबा के नाम से मशहूर हुए गणेश भार्गव एक बार फिर सुर्खियों में बने हुए हुए हैं। दरअसल गणेश भार्गव छत्तीसगढ़ में चौथी बार भाजपा की सरकार बनवाने के लिए राज्य में बड़ा यज्ञ करने वाले हैं। खबर के मुताबिक करीब 16 दिन तक चलने वाले इस यज्ञ में तीन करोड़ रुपए खर्च होंगे। हालांकि अभी तक इस बात का खुलासा नहीं हो सका है कि यज्ञ के लिए धन कहां से जुटाया जाएगा, मगर कंबल वाले बाबा कहना है कि जो यज्ञ में बैठेंगे वही इसका खर्च उठाएंगे। इसके बाद सभी की नजर उन लोगों पर होगी जो यज्ञ में हिस्सा लेंगे। बाबा का दावा है कि राज्य में यज्ञ कराने से चौथी बार भाजपा की सरकार बनाने से कोई नहीं रोक सकता है। यह यज्ञ हिंदू महासभा और यादव समाज संयुक्त रूप से करेगा।

खबर है कि यज्ञ में भाजपा के शीर्ष नेताओं के अलावा संघ से जुड़ें संगठनों को भी आमंत्रित किया जाएगा। मगर इससे कांग्रेस नेताओं को दूर रखा जाएगा। यज्ञ के आयोजन की रूपरेखा भी तैयार कर ली गई है और बिलासपुर के इमलीपारा में स्थित सामुदायिक भवन में अखिल भारतीय हिंदू महासभा और यादव समाज की एक बैठक भी हो चुकी है। बैठक में बाबा को सभी की सहमति से अहिर रेजीमेंट के लिए संघर्रत संघठन अखिल भारतीय यादुवंशी महासभा के प्रदेश अध्यक्ष का दायित्व सौंपा गया है। बैठक में उन्होंने राज्य में चौथी बार भाजपा की सरकार बनवाने पर जोर दिया।

बता दें कि कंबल वाले बाबा पूर्व में सुर्खियों में आ चुके हैं। दरअसल छत्तीसगढ़ के मंत्री राम सेवक पैकरा खुद कंबल बाबा के यहां इलाज के लिए पहुंचे थे। वह तब जनसंपर्क यात्रा के तहत बलरामपुर जिले में पहुंचे थे जहां उन्हें कंबल बाबा के बारे में पता चला। बाबा ने दावा किया कि वो कंबल ओढ़ाकर किसी के कानों में मंत्र फूंक दे तो कोई भी बीमारी गायब हो जाती है। पूरे के इलाज के लिए बाबा के दरबार में पांच बार आना होगा। बाबा को लेकर जब मंत्री रामसेवक से पूछा तो कहा, मैं अपने क्षेत्र के दौरे पर था। करीब पांच हजार लोग वहां पहले से मौजूद थे। मैंने भी वहां खड़े होकर देखा कि जो शख्स चल नहीं पा रहा था उसे मालिश करके बाबा ने चला दिया। मुझे ये सब चम्मकार जैसा लगा।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 छत्तीसगढ़: शव ले जाने के लिए गाड़ी नहीं मिली, कांवड़ बनाकर लाश ले गए घरवाले