ताज़ा खबर
 

पीएम मोदी की रैली में बंटा 14,000 किलो हलवा, 9 लाख पूरियां, खप गई 4 टन चीनी

इस रैली के दौरान 14,000 किलो हलवा लोगों के बीच बांटा गया। इसके अलावा डेढ़ लाख खाने के पैकेट भी लोगों के बीच बांटे गए। खाने के सभी पैकेटों में छह पुरी, हलवा और आचार दिया गया था।

भिलाई में सभा को संबोधित करते पीएम।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी गुरुवार (14 जून) को छत्तीसगढ़ पहुंचे। पीएम ने यहां रायपुर स्मार्ट सिटी में इंट्रीग्रेटड कमांड सेंटर का उद्घाटन किया। पीएम ने भिलाई स्टील प्लांट का भी दौरा किया और यहां लोगों को भी संबोधित किया। पीएम ने यहां जयंती स्टेडियम में एक जनसभा को संबोधित किया। इस रैली के दौरान 14,000 किलो हलवा लोगों के बीच बांटा गया। इसके अलावा डेढ़ लाख खाने के पैकेट भी लोगों के बीच बांटे गए। खाने के सभी पैकेटों में छह पुरी, हलवा और आचार दिया गया था। इस सभा में आए लोगों को बिस्कुट और केला भी खाने के लिए दिया गया। डेढ़ लाख खाने के पैकेट तीन अलग-अलग राज्यों रायपुर, दुर्ग और राजनंदगांव में बने। करीब 9 लाख पुरियां बनाई गई थीं।

इन चीजों का हुआ इस्तेमाल : 12,000 किलोग्राम से ज्यादा गेंहूं, 2000 किलोग्राम सुजी, 4000 किलोग्राम चीनी, 6000 लीटर तेल, आचार के 1 लाख पैकेट, 600 किलो मिस्री का इस्तेमाल विभिन्न फूड आइट्स को बनाने में किया गया था।

इस सभा में शामिल होने वाले पार्टी नेताओं और कार्यकर्ताओं को गाड़ियां खड़ी करने में कोई समस्या ना आए इसके लिए 35 पार्किंग स्थल बुक किये गये थे। पीएम मोदी ने जयंती स्‍टेडियम से आईआईटी भिलाई का डीजटल शिलान्‍यास करने के साथ ही विस्‍तार परियोजना का लोकार्पण भी किया। इसी के साथ प्रधानमंत्री ने जगदलपुर एयरपोर्ट का भी मंच से ही डीजटल लोकार्पण किया।

पीएम की सुरक्षा को ध्यान रखते हुए एसपीजी, इंटेलिजेंस के अलावा 4 हजार से ज्यादा जवान भि‍लाई में तैनात किए गए थे और एक हजार जवान रायपुर में तैनात किए गए थे। हेलिपैड सभा स्थल के पास ही बनाया गया, वहां से आने के लिए नई सड़क तैयार की गई। लोगों के आने के लिए 20 अलग-अलग रास्ते बनाए गए थे। आपको बता दें कि बीते तीन सालों में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 5वीं बार छत्तीसगढ़ गए थे। इससे पहले पीएम 9 मई 2015, 21 फरवरी 2016, 1 नवंबर 2016 और 14 अप्रैल 2018 को छत्तीसगढ़ के दौरे पर आ चुके हैं। छत्तीसगढ़ में इसी साल विधानसभा चुनाव भी होने हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App