ताज़ा खबर
 

छत्तीसगढ़ विधानसभा ‘बांधने’ पहुंचे बाबा, चौथी बार सरकार बनाने के लिए बीजेपी को तंत्र-मंत्र का सहारा!

खास बात है कि यह बाबा विस का पास भी लिए थे। भगवाधारी वस्त्र, सिर पर जटा, माथे पर लाल रंग का विशाल टीका-भभूत और गले में ढेर सारी मालाएं (तकरीबन साढ़े 10 किलो वजनी) पहने इन बाबा को पामगढ़ के विधायक अंबेश जांगड़े मुलमुला से लेकर आए थे।

विधानसभा में बुधवार को यह बाबा आकर्षण का केंद्र रहे। (फोटोः फेसबुक)

छत्तीसगढ़ में चौथी बार भी भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) की सरकार बने, इसले लिए एक तांत्रिक बाबा विधानसभा में कथित तौर पर तंत्र-मंत्र करने पहुंचे। बुधवार (चार जुलाई) को इन बाबा ने दावा किया कि उन्होंने अदृश्य शक्तियों से विस को बांधा। ‘दैनिक भास्कर’ को उस दौरान उन्होंने बताया, “अब मैं अमरनाथ जाकर जटा खोलूंगा।” खास बात है कि यह बाबा विस का पास भी लिए थे। भगवाधारी वस्त्र, सिर पर जटा, माथे पर लाल रंग का विशाल टीका-भभूत और गले में ढेर सारी मालाएं (तकरीबन साढ़े 10 किलो वजनी) पहने इन बाबा को पामगढ़ के विधायक अंबेश जांगड़े मुलमुला से लेकर आए थे।

बाबा ने विधानसभा में कहा, “चौथी बार राज्य में बीजेपी की सरकार बने, मैंने इसे बांध दिया है। अमरनाथ में जाकर जटा खोलूंगा।” विस में घूमते और कथित तौर पर तंत्र मंत्र करने वाले इन बाबा के बारे में विधायक बृहस्पति सिंह ने स्पीकर गौरीशंकर अग्रवाल को बताया, जिस पर उनका जवाब था- “अरे, मैंने भी उन (बाबा) के साथ तस्वीर खिंचाई थी।”

कौन थे यह बाबा?: छत्तीसगढ़ विस को बांधने पहुंचे इन बाबा का असली नाम राम लाल कश्यप है। मूल रूप से वह जांजगीर जिले के पामगढ़ के पास मुलमुला निवासी हैं। वह इसके अलावा भारतीय जनता युवा मोर्चा (भाजयुमो) के मंडलाध्यक्ष भी हैं। बकौल कश्यप, “मैं 20 सालों से तंत्र-मंत्र कर रहा हूं। मेरे पास विजिटर्स पास था, जिसके कारण मुझे विस में अंदर जाने दिया गया। पास विधायक जांगड़े ने बनवाया था।”

आपको बता दें कि छत्तीसगढ़ में इस वक्त मुख्यमंत्री रमन सिंह की सरकार है। कुछ ही समय बाद यहां पर 90 सदस्यीय विधानसभा की सीटों के लिए चुनाव होने हैं, जिसके लिए सभी राजनीतिक दल अभी से अपनी एड़ी-चोटी का जोर आजमा रहे हैं। छत्तीसगढ़ के अलावा मध्य प्रदेश और राजस्थान में भी चुनाव होने हैं। फिलहाल तारीखों का ऐलान अभी नहीं हुआ है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App