X

छत्तीसगढ़: चुनाव से पहले भाजपा से जुड़े 17 पूर्व अधिकारी, कई विधायकों के कट सकते हैं टिकट

बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह का छत्तीसगढ़ दौरा सफल माना जा रहा है। राज्य में विरोधी लहर को देखते हुए पार्टी किसी भी तरह के जोखिम से बच रही है और नए प्रयोग कर रही है। इन 24 लोगों के बीजेपी में शामिल किए जाने पर ऐसी अटकलें शुरू हो गई हैं कि बीजेपी इस बार कुछ विधायकों के टिकट काटेगी।

छत्तीसगढ़ में साल के आखिर में विधानसभा चुनाव होने हैं। इसे देखते हुए भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) समाज के प्रभावशाली लोगों को अपने पाले में करने में काफी हद तक कामयाब नजर आ रही है। शुक्रवार (31 सितंबर) को 17 पूर्व अधिकारियों और 7 अन्य प्रभावशाली लोगों ने बीजेपी की सदस्यता ली। इन लोगों ने बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह की मौजूदगी में पार्टी की सदस्यता ग्रहण की। छत्तीगढ़ बीजेपी के आधिकारिक ट्विटर हैंडल से भी इस बात की जानकारी दी गई। ट्वीट में लिखा गया, ”आज भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री अमित शाह जी की मौजूदगी में 24 पूर्व आईएएस, आईपीएस व अन्य अधिकारियों ने भारतीय जनता पार्टी की सदस्यता ग्रहण की।” मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक बीजेपी में शामिल होने वाले लोगों में 10 से ज्यादा पुलिस विभाग से हैं। इनमें एक पूर्व आईएएस अधिकारी शामिल हैं।

जो लोग बीजेपी में शामिल हुए, उनके नाम कुछ इस प्रकार बताए जा रहे हैं- पूर्वआईपीएस राजीव श्रीवास्तव, पूर्व आईपीएस एनकेएस ठाकुर, पूर्व आईएएस आरसी सिन्हा, पूर्व आईआरएस अशोक सिंह, पूर्व आईआरएस अरविंद श्रीवास्तव, पूर्व आईएफएस कृष्ण कुमार खेलवार, पूर्व आईएफएस राकेश तिवारी, पूर्व आईपीएस विमल चंद्र गुप्ता, एनटीपीसी के पूर्व महाप्रबंधक हेमंत धागमवार, पूर्व एडिशनल एसपी, सहायक पुलिस महानिरीक्षक आरके शर्मा, पूर्व एडिशनल एसपी बंशीलाल कुर्रे, पूर्व एडिशनल एसपी भोजेंद्र उईके, भारतीय सेना कर्नल सुनील मिश्रा,  छत्तीसगढ़ पुलिस के पूर्व डीएसपी मोहन दुबे, छत्तीसगढ़ पुलिस, सीबीआई के पूर्व डीएसपी अजीत चौबे,  छत्तीसगढ़ पुलिस के पूर्व डीएसपी प्रदीप मिश्रा,  छत्तीसगढ़ पुलिस के पूर्व डीएसपी शमशीर खान।

इनके अलावा बीजेपी में शामिल होने वाले प्रभावशाली लोगों के नाम इस प्रकार है- पुरातत्तवविद और इतिहासकार डॉक्टर हेमू यदु, ऑल मुस्लिम वेलफेयर के संस्थापक मोहम्मद सिराज, पूर्व मैनेजर और संगीत थैरेपी विशेषज्ञ घनश्याम शर्मा, अंतर्राष्ट्रीय मनोवैज्ञानिक, होम्योपैथिक चिकित्सक डॉ. नीता, पूर्व जेल प्रशिक्षक और राष्ट्रीय ऑर्ट ऑफ लिविंग के सुभाष वर्मा, समाजसेवी शुभांगी आप्टे, राष्ट्रीय पत्रकार किशोर त्रिवेदी।

बता दें कि बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह का छत्तीसगढ़ दौरा सफल माना जा रहा है। राज्य में विरोधी लहर को देखते हुए पार्टी किसी भी तरह के जोखिम से बच रही है और नए प्रयोग कर रही है। इन 24 लोगों के बीजेपी में शामिल किए जाने पर ऐसी अटकलें शुरू हो गई हैं कि बीजेपी इस बार कुछ विधायकों के टिकट काटेगी। फिलहाल इस पर पार्टी की ओर आधिकारिक प्रतिक्रिया का इंतजार हो रहा है।

  • Tags: Chhattisgarh News,