ताज़ा खबर
 

छत्तीसगढ़ कांग्रेस का आरोप- भाजपा स्वयंभू बाबा के जरिए हमारे विधायकों को दे रही करोड़ों का लोभ

कांग्रेस ने बुधवार को मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी से शिकायत की कि छत्तीसगढ़ में भाजपा और उसके कार्यकर्ताओं, मुख्यमंत्री तथा अन्य मंत्रियों के द्वारा कांग्रेस के विधायक और कार्यकर्ताओं की खरीद-फरोख्त के प्रयास किए जा रहे हैं।

Author October 18, 2018 1:36 PM
तस्वीर का इस्तेमाल प्रतीकात्मक तौर पर किया गया है। (एक्सप्रेस फाइल फोटो)

छत्तीसगढ़ में कांग्रेस ने भारतीय जनता पार्टी पर कांग्रेस के विधायक की खरीद-फरोख्त के प्रयास का बुधवार को आरोप लगाया और आपराधिक प्रकरण दर्ज करते हुए भाजपा की मान्यता रद्द करने की मांग की है। कांग्रेस ने बुधवार को मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी से शिकायत की कि भाजपा और उसके कार्यकर्ताओं, मुख्यमंत्री तथा अन्य मंत्रियों के द्वारा कांग्रेस के विधायक और कार्यकर्ताओं की खरीद-फरोख्त के प्रयास किए जा रहे हैं। कांग्रेस ने चुनाव आयोग से मांग की है कि इस मामले में अपराधिक प्रकरण दर्ज करते हुए भाजपा की मान्यता रद्द की जाए। मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी को सौंपे पत्र में प्रदेश कांग्रेस संचार विभाग की सदस्य किरणमयी नायक ने कहा है कि समाचार पत्रों के माध्यम से और पार्टी के विधायक चिंतामणी महाराज के माध्यम से इस बात का खुलासा हो चुका है कि भारतीय जनता पार्टी के मुख्यमंत्री रमन सिंह, उनके गृह मंत्री रामसेवक पैकरा और कंबलवाले बाबा अवैधानिक रूप से करोड़ों रूपए की पेशकश कर कांग्रेस के विधायक चिंतामणी महाराज को भारतीय जनता पार्टी में प्रवेश करने के लिए प्रलोभन दे रहे हैं।

नायक ने आरोप लगाया है कि भारतीय जनता पार्टी के बड़े पदाधिकारी वर्ष 2014 से ही कांग्रेस के विधायक एवं कार्यकर्ताओं को पैसे देकर खरीदने का प्रयास लगातार कर रहे हैं तथा कुछ दिन पूर्व कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष रामदयाल उईके को भारतीय जनता पार्टी में प्रवेश कराया गया है। उन्होंने कहा है कि आॅडियो क्लिप के वार्तालाप से यह स्पष्ट है कि रामदयाल उईके को 10 करोड़ रूपये देकर और भविष्य में मंत्री पद और लालबत्ती का लालच देकर भारतीय जनता पार्टी में प्रवेश कराया गया है। इस बात की स्वीकारोक्ति और पुष्टि कंबलवाले बाबा के फोन वार्तालाप से स्पष्ट हो जाती है।

कांग्रेस नेता ने कहा कि आचार संहिता लागू होने तथा चुनाव प्रक्रिया प्रारंभ हो चुकी है। ऐसी स्थिति में कंबल वाले बाबा नामक एक व्यक्ति ने विधायक चिंतामणी महाराज को 1.5 करोड़ रूपये तथा मंत्री पद देने का प्रलोभन दिया है। पत्र में कहा ष्गया है कि यह जांच का विषय है कि ऐसा आश्वासन मुख्यमंत्री और भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ पदाधिकारियों के संरक्षण के बिना कोई भी व्यक्ति अकेले नहीं दे सकता है। कांग्रेस ने मांग की है कि इस पूरे प्रकरण में लोक प्रतिनिधित्व अधिनियम के तहत अपराधिक एवं भ्रष्ट आचरण का अपराध तथा धारा 123 लोक प्रतिनिधित्व अधिनियम में परिभाषित तत्वों के अधीन आपराधिक प्रकरण दर्ज की जाए। इसमें मुख्यमंत्री रमन सिंह, गृह मंत्री रामसेवक पैकरा, कंबल वाले बाबा तथा अन्य पर समुचित आपराधिक प्रकरण दर्ज किए जाएं।

छत्तीसगढ़ में सोशल मीडिया में कथित रूप से कंबल वाले बाबा और लुंड्रा क्षेत्र से कांग्रेस के विधायक चिंतामणी महाराज के मध्य बातचीत वायरल हुई थी। इधर मुख्यमंत्री रमन ंिसह ने इस मामले को लेकर कहा है कि भाजपा राज्य में 65 सीटें जीतेगी और पार्टी अपने दम पर जीतकर आने के लिए सक्षम है। सह ने कहा कि कंबल वाले बाबा जैसे बाबा अपने काम में लगे रहते हैं। वह अपने जुगाड़ में रहते हैं। इनका भाजपा से कोई लेना देना नहीं है। छत्तीसगढ़ में विधानसभा चुनाव दो चरणों में 12 और 20 नवंबर को होंगे। चुनाव को देखते हुए राजनीतिक दलों में आरोप प्रत्यारोप का दौर जारी है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App