Chhattisgarh bureaucrat charged in corruption case cbi registers case - 1.5 करोड़ की रिश्वत देने के आरोप में फंसे छत्तीसगढ़ के प्रधान सचिव, भ्रष्टाचार का मामला दर्ज - Jansatta
ताज़ा खबर
 

1.5 करोड़ की रिश्वत देने के आरोप में फंसे छत्तीसगढ़ के प्रधान सचिव, भ्रष्टाचार का मामला दर्ज

छत्तीसगढ़ सरकार के प्रधान सचिव बीएल अग्रवाल पर हवाला ऑपरेटरों के माध्यम से रिश्वत देकर पुराने केस को बंद कराने का आरोप है।

केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो यानी सीबीआई।

सीबीआई ने छत्तीसगढ़ सरकार के प्रधान सचिव बीएल अग्रवाल और दो अन्य के खिलाफ मामला दर्ज किया है। प्रधान सचिव पर हवाला ऑपरेटरों के माध्यम से रिश्वत देकर पुराने केस को बंद कराने का आरोप है। सीबीआई ने बीएल अग्रवाल पर 2010 में केस दर्ज किया था। जिसके लिए 1.5 करोड़ की रिश्वत देकर मामले को खत्म करना चाहते थे। हैदराबाद के रहने वाले सैयद बुरहानुद्दीन उर्फ ​​ओपी सिंह ने अपने आपको प्रधानमंत्री कार्यालय के अधिकारी होने का दावा किया और अग्रवाल को मदद करने की पेशकश की थी। दोनों की बात पक्की हो गई। लेकिन उससे पहले ही अग्रवाल सीबीआई के जाल में फंस गया। अपने आपको प्रधानमंत्री कार्यालय के अधिकारी बताने वाले बुरहानुद्दीन के बारे में सीबीआई ने कहा है कि यह पीएमओ कर्मचारी नहीं है। सीबीआई ने अपने बयान में कहा है कि,” प्रधान सचिव (उच्च शिक्षा) बी. एल. अग्रवाल, ग्रेटर नोएडा निवासी भगवान सिंह, हैदराबाद निवासी सैयद बुरहानुद्दीन उर्फ ओ. पी. शर्मा उर्फ सिंह और अन्य लोगों के खिलाफ आईपीसी की धारा 120 बी के साथ भ्रष्टाचार निरोधक अधिनियम-1988 की धारा 8 के तहत मामला दर्ज किया गया है।”

बी. एल. अग्रवाल 1988 बैच के छत्तीसगढ़ कैडर के आईएस अधिकारी हैं। सीबीआई के मुताबिक अग्रवाल, बुरहानुद्दीन और भगवान सिंह 11 फरवरी को दिल्ली को मिले थे। इस बैठक में अग्रवाल ने उनके केस को छत्तीसगढ़ सरकार की आर्थिक अपराध शाखा को स्थानांतरित करने की बात कही जिसके बदले 1.5 करोड़ रुपये के भुगतान की बात पर सहमती बनी। डील के बाद 11 से 16 फरवरी को अग्रवाल ने 45 लाख दे दिए बाकी के पैसे हवाला के जरिए दिल्ली में देने की बात कही। सीबीआई की एफआईआर के अनुसार इस अधिकारी पर हवाला के माध्यम से 25 लाख रुपये लेने का भी आरोप है। हवाला के माध्यम से दो किलो सोना लेने का भी इस अधिकारी पर आरोप लगा है। जांच के दौरान दो किलो सोना जब्त किया गया है।

सीबीआई ने जांच के दौरान कई हवाला ऑपरेटरों के ठिकानों पर छापे मारे। इसमें रायपुर, हैदराबाद, नई दिल्ली और ग्रेटर नोएडा के ठिकानों शामिल हैं। सीबीआई की जांच में कई और अधिकारियों के नाम भी सामने आ सकते हैं। सीबीआई की पूछताछ में क्या कुछ खुलासे हुए हैं ये अभी सामने आना बाकी है।

अगस्ता वेस्टलैंड चॉपर केस में पूर्व वायुसेना प्रेमुख एसपी त्यागी के सीबीआई ने दी जमानत

अगस्ता वेस्टलैंड केस: पूर्व एयर चीफ एसपी त्यागी समेत तीन को सीबीआई ने किया गिरफ्तार

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App