ताज़ा खबर
 

छत्‍तीसगढ़: पुलिस और नक्‍सलियों में भीषण मुठभेड़, 9 माओवादी ढेर, दो जवान शहीद

छत्‍तीसगढ़ में सुरक्षाबलों और नक्‍सलियों के बीच भीषण मुठभेड़ हुआ। इसमें 9 माओवादी ढेर हो गए, जबकि दो जवान भी शहीद हुए हैं। नक्‍सलियों के ठिकाने से बड़ी मात्रा में हथियार बरामद किए गए हैं।

Author November 26, 2018 6:59 PM
नक्‍सली इलाके में गश्‍त करते सुरक्षा बलों के जवान। फाइल फोटो

छत्‍तीसगढ़ में सुरक्षाबलों को बड़ी सफलता मिली है। बीजापुर के समीप सुरक्षाबलों और नक्‍सलियों के बीच भीषण मुठभेड़ हुई, जिसमें 9 नक्‍सली मारे गए हैं। न्‍यूज एजेंसी एएनआई के अनुसार, एनकाउंटर में दो जवान भी शहीद हुए हैं। नक्‍सलियों के ठिकाने से बड़ी मात्रा में हथियार बरामद किए गए हैं। हाल के दिनों में छत्‍तीसगढ़ में नक्‍सलियों के खिलाफ सुरक्षाबलों को मिली यह बड़ी सफलता है।

एंटी नक्सल आॅपरेशन के स्पेशल डीजी डीएम अवस्थी ने इस आॅपरेशन के बारे में मीडिया को जानकारी दी है। डीजी डीएम अवस्थी ने बताया,”ये घटना किस्टाराम थाना क्षेत्र में हुई है। ये इलाका तेलंगाना की सीमा से सटा हुआ है। नक्सली दो राज्यों छत्तीसगढ़ और तेलंगाना की सीमा का फायदा उठाकर लंबे वक्त से यहां सक्रिय थे। नक्सली गतिविधि की सूचना मिलने पर रविवार (25 नवंबर, 2018) की शाम को सीआरपीएफ, एसटीएफ और डीआरजी के संयुक्त दल को गश्त के लिए रवाना किया गया था। इस अभियान को ‘प्रहार चार’ का नाम दिया गया है।

अवस्थाी के मुताबिक, ”हमने अभी तक 9 नक्सलियों के शव बरामद किए हैं और इसमें इजाफा हो सकता है। इस आॅपरेशन में डिस्ट्रिक्ट रिजर्व गार्ड (डीआरजी), सीआरपीएफ और स्पेशल टास्क फोर्स ने संयुक्त रूप से कार्रवाई की है। जहां एनकाउंटर चल रहा है उस पूरे इलाके को घेर लिया गया है।” बता दें कि सुकमा जिले के एल्मागुडा गांव के जंगल क्षेत्र में जब 206 कोबरा बटालियन के जवान गश्त कर रहे थे तो उसी दौरान नक्सलियों ने फायरिंग की। इसके जवाब में सुरक्षाबलों ने भी जवाबी फायरिंग की। यह मुठभेड़ सोमवार की दोपहर को हुई है। इस मुठभेड़ के बाद सुरक्षाबलों ने एक ‘भरमार’ या मजल लोडेड बंदूक और कुछ आईईडी बनाने के उपकरण भी बरामद किए गए हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App