ताज़ा खबर
 

छत्तीसगढ़:फायर ब्रिगेड में अचानक लगी आग से जलकर राख हुआ वाहन, असामाजिक तत्वों दिया ने वारदात को अंजाम

सूत्रों के मुताबिक फॉयर बिग्रेड गाड़ी को 65 लाख रुपये में खरीदा गया था। और गाडी का बीमा (इंश्योरेंस) भी नहीं था।

आग बुझाने वाला वाहन ही आग का शिकार हो गया और आसपास कोई साधन न होने के कारण आग नहीं बुझा सके।

मुंगेली जिले में फायर बिग्रेड में आग लगने का मामला सामने आया है। आग बुझाने वाला वाहन ही आग का शिकार हो गया और आसपास कोई साधन न होने के कारण आग नहीं बुझा सके। बताया जा रहा है मुंगेली जिले के लोरमी नगर पंचायत परिसर में खड़ी फायर ब्रिगेड (दमकल) गाड़ी में ही आग लग गई। आग कैसे लगी इस बारें में अभी कोई सहीं खुलासा नहीं हो पाया है। ऐसी संभावना जताई जा रही है कि कुछ असामाजिक तत्वों के द्वारा वारदात को अंजाम दिया गया है।

चौंकाने वाली बात तो यह है कि जब आग बुझाने वाले वाहन में ही आग लग गई तो अब आग बुझाए कौन। आसपास आग बुझाने के लिए कोई साधन नही थे और गाड़ी के पास जाकर आग बुझाने का खतरा कोई मोल की किसी में हिम्मत नहीं थी। दमकल गाड़ी आग की लपटें काफी तेज थी, डर और मजबूरी के चलते कोई भी आग बुझाने के लिए आगे नहीं बढ़ सका। इसलिए वहां खड़े लोग हाथ पर हाथ रखकर यह सब देखते रहे। दमकल गाड़ी आग में जलकर पूरी तरह नष्ट हो गई।

शहर के बीचों-बीच हुई इस घटना से जहाँ नगर पंचायत की संपत्ति ख़ाख हो गई और लाखों का चूना लग गया है। वहीं इस घटना के बाद वहां के लोगों में भी दहशत का माहौल है कि सरेआम गाडी में आग लगा दी गई और सब देखते रहे। इस घटना के बाद जिले की नगर की सुरक्षा और कानून व्यवस्था की पोल भी खुल गई है।

सूत्रों के मुताबिक फॉयर बिग्रेड गाड़ी को 65 लाख रुपये में खरीदा गया था। और गाडी का बीमा (इंश्योरेंस) भी नहीं था। जिससे सिद्ध होता है कि उक्त नगरपंचायत को 65 लाख का सीधा-सीधा नुक्सान हुआ है।

वीडियो: झारखंड: नक्सलियों ने इंडियन ऑयल के 6 वाहनों में लगाई आग

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App