Charkhi-dadri gangrape-murder of Dalit girl in haryana - Jansatta
ताज़ा खबर
 

हरियाणा: खट्टर राज में नहीं थम रहा गैंगरेप, अब चरखी दादरी में भी दलित छात्रा बनी शिकार

चरखी दादरी के गांव मानकावास में एक दलित छात्रा के साथ कथित रूप से सामूहिक बलात्कार का मामला सामने आया है।

Author भिवानी | January 19, 2018 12:21 AM
प्रतीकात्मक तस्वीर।

चरखी दादरी के गांव मानकावास में एक दलित छात्रा के साथ कथित रूप से सामूहिक बलात्कार का मामला सामने आया है। पुलिस में दर्ज शिकायत के आधार पर चार युवकों ने सोमवार की देर रात छात्रा को घर के बाहर से चाकू की नोंक पर अगवा कर कथित रूप से उससे सामूहिक बलात्कार किया। मंगलवार की सुबह छात्रा बेहोशी की हालत में घर के बाहर पड़ी मिली। होश आने पर परिजन उसे दादरी में महिला पुलिस थाना लेकर पहुंचे और पुलिस में शिकायत दर्ज करवाई। पुलिस अधीक्षक हिमांशु गर्ग ने बताया कि वह स्वयं मामले की जांच कर रहे हैं। उन्होंने बताया कि एक नामदज सहित चार युवकों पर बलात्कार का आरोप है। इस मामले में पुलिस द्वारा एफआईआर दर्ज करके जांच की जा रही है।

इधर, फरीदाबाद में युवती के साथ चलती गाड़ी में सामूहिक दुष्कर्म की घटना के बाद हरियाणा महिला आयोग की अध्यक्ष प्रतिभा सुमन ने आज पुलिस आयुक्त से मुलाकात की। उन्होंने पुलिस आयुक्त अमिताभ ढिल्लो से इस घटना के बारे में जानकारी ली। इसके बाद उन्होंने पीड़ित युवती से मुलाकात की। इस दौरान युवती ने उन्हें घटना के बारे में बताया और आरोपियों के लिए मौत की सजा की मांग की।

बता दें कि हरियाणा में पिछले चार दिनों में छह रेप की वारदातों के बाद राज्य सरकार महिलाओं की सुरक्षा को लेकर निशाने पर आ गई है। चौंकाने वाली बात यह है कि जिन छह महिलाओं के साथ दुष्कर्म हुआ उनमें चार नाबालिग थीं। बीते मंगलवार (16 जनवरी, 2017) को अपराधियों ने साढ़े तीन साल की मासूम बच्ची को अपनी हवस का शिकार बनाया था। टाइम्स ऑफ इंडिया की खबर के अनुसार दिनभर लापता रही बच्ची रात को दर्द से कराहते हुए वापस लौटी। उसके कपड़े खून में सने हुए थे। उपचार के लिए जब बच्ची को हॉस्पिटल ले जाया गया तो डॉक्टरों ने रेप की पुष्टि की। मामले में हिसार महिला पुलिस स्टेशन की स्टेशन हाउस ऑफिसर (एसएचओ) ने बताया कि आरोपी युवक को गिरफ्तार को कर बाल सुधार गृह भेज दिया गया है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App