ताज़ा खबर
 

दोनों हाथों में हुआ पोलियो फिर भी नहीं मानी हार, पैरों से लिखकर दे रही 12वीं की परीक्षा

बिहार के छपरा में एक छात्रा अपने हाथ नहीं बल्कि पैरों से लिखकर अपनी तकदीर बदल रही है। हाल ही में जिला स्कूल परीक्षा केंद्र पर एक दिव्यांग छात्रा के पैर से परीक्षा लिखने का वीडियो वायरल हुआ है। छात्रा का नाम अंकिता गुप्ता है। अंकिता इस समय 12वीं की परीक्षा दे रही हैं।

प्रतीकात्मक फोटोः इंडियन एक्सप्रेस

बिहार के छपरा में एक छात्रा अपने हाथ नहीं बल्कि पैरों से लिखकर अपनी तकदीर बदल रही है। हाल ही में जिला स्कूल परीक्षा केंद्र पर एक दिव्यांग छात्रा के पैर से परीक्षा लिखने का वीडियो वायरल हुआ है। छात्रा का नाम अंकिता गुप्ता है। अंकिता इस समय 12वीं की परीक्षा दे रही हैं।

1 साल की थी जब हाथों ने छोड़ दिया साथः छात्रा अंकिता के चाचा श्याम गुप्ता बताते हैं कि अंकिता जब एक साल की थी तो उसे दिमागी बुखार हो गया था। इलाज के लिए अंकिता को पटना मेडिकल कॉलेज में भर्ती करवाया गया जहां पर वह 35 दिन तक भर्ती रही। डिस्चार्ज मिलने के बाद अंकिता के दोनों हाथों में पोलियो हो गया और उसके हाथों ने हमेशा के लिए काम करना बंद कर दिया।

बीमारी भी नहीं रोक सकी आगे बढ़ने का जज्बाः अंकिता की टीचर उमा पांडे बताती हैं कि अंकिता साइंस की स्टूडेंट है और पढ़ने में बहुत अच्छी है। क्लास में समय से आती है। उनका कहना है कि अंकिता अपने पैरों से इतनी सुंदर हैंडराइडटिंग में लिखती है कि देखने वाले भी आश्चर्यचकित हो जाते है। यही नहीं 10वीं क्लास भी अंकिता ने 70 प्रतिशत मार्क्स के साथ पास की थी। हालांकि बिहार सरकार से उसे कोई आर्थिक सहायता नहीं मिली। अंकिता के जज्बे और लग्न को देखते हुए उसके स्कूल टीचरों ने मिलकर उसकी 12वीं कक्षा की फीस भरी थी। अंकिता के चाचा श्याम बताते हैं कि जिला प्रशासन ने उन्हें आठ साल के लंबे इंतजार के बाद 55% विकलांग का प्रमाण पत्र जारी किया था।

लिखना सिखाने के लिए नहीं लिया एक भी रुपयाः अंकिता के चाचा श्याम बताते हैं कि अंकिता को पैरों से लिखना सिखाने के पीछे का श्रेय उसके टीचर मनोज पांडे को जाता है, पांडे हरपुर बाजार में कोचिंग सेंटर चलाते हैं। अंकिता जब 6 कक्षा में पढ़ती थी तो पांडे ने अंकिता को लिखना सिखाया। पैरों से लिखने के अलावा अंकिता चित्रकारी भी कर लेती है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App