ताज़ा खबर
 

Chandrayaan-2 का ऑर्बिटर चंद्रमा की कक्षा में सुरक्षित, ISRO के अधिकारी का बयान; जग उठी उम्मीद

Chandrayaan 2 landing: इसरो ने दो सितंबर को ऑर्बिटर से लैंडर को अलग करने में सफलता पाई थी, लेकिन शनिवार तड़के विक्रम का जमीनी स्टेशन से संपर्क टूट गया था।

chandrayaan 2, chandrayaan 2 landing, chandrayaan 2 moon landing,Chandrayaan-2 Moon Landing:अंतिम समय में विक्रम का जमीनी स्टेशन से संपर्क टूटा (Image source: ISRO)

चंद्रमा की सतह को छूने से चंद मिनट पहले लैंडर ‘विक्रम’ का जमीनी स्टेशन से संपर्क टूटने के बाद इसरो के एक अधिकारी ने शनिवार को बताया कि Chandrayaan-2  का ऑर्बिटर चंद्रमा की कक्षा में सुरक्षित है। अधिकारी ने ‘पीटीआई’ से कहा, ‘‘ऑर्बिटर चंद्रमा की कक्षा में पूरी तरह ठीक एवं सुरक्षित है और सामान्य तरीके से काम कर रहा है।’’ 2379 किलोग्राम ऑर्बिटर के मिशन का जीवन काल एक साल है। इस बीच सोशल मीडिया पर कई लोगों को का कहना है कि उन्हें अभी भी उम्मीद है कि लैंडर ‘विक्रम’ का जमीनी स्टेशन से संपर्क जुड़ेगा।

National Hindi Khabar, 7 September 2019 LIVE News Updates: पढ़ें आज की बड़ी खबरें

उल्लेखनीय है कि 3,840 किलोग्राम वजनी Chandrayaan-2  को 22 जुलाई को जीएसएलवी एमके-3 एम1 रॉकेट से प्रक्षेपित किया गया था। Chandrayaan -2 ने धरती की कक्षा छोड़कर चंद्रमा की तरफ अपनी यात्रा 14 अगस्त को इसरो द्वारा ‘ट्रांस लूनर इन्सर्शन’ नाम की प्रक्रिया को अंजाम दिये जाने के बाद शुरू की थी। यह प्रक्रिया अंतरिक्ष यान को ‘लूनर ट्रांसफर ट्रेजेक्ट्री’ में पहुंचाने के लिये अपनाई गई। अंतरिक्ष यान 20 अगस्त को चंद्रमा की कक्षा में पहुंच गया था।

Chandrayaan-2 के ‘ऑर्बिटर’ में चंद्रमा की सतह का मानचित्रण करने और पृथ्वी के इकलौते उपग्रह के बाह्य परिमंडल का अध्ययन करने के लिए आठ वैज्ञानिक उपकरण हैं। इसरो ने दो सितंबर को ऑर्बिटर से लैंडर को अलग करने में सफलता पाई थी, लेकिन शनिवार तड़के विक्रम का जमीनी स्टेशन से संपर्क टूट गया था। इसरो ने कहा है कि वह आंकड़ों का विश्लेषण कर रहा है। उम्मीद है कि, कुछ समय बाद संपर्क किया जा सकता हैं। इस बीच पीएम नरेंद्र मोदी ने लैंडर का संपर्क टूट जाने के बाद इसरो के वैज्ञानिकों से कहा,‘‘देश को आप पर गर्व है। सर्वश्रेष्ठ के लिए उम्मीद करें। हौसला रखें। जीवन में उतार-चढ़ाव आते रहते हैं। यह कोई छोटी उपलब्धि नहीं है।’’

Next Stories
1 Chandrayaan-2 के बाद Gaganyaan Mission की तैयारी, अंतरिक्षयात्रियों के चयन की पहले चरण की प्रक्रिया पूरी
2 Chandrayaan- 2 Landing: जानें कैसे शुरू हुआ था भारत का दूसरा मानवरहित चंद्र मिशन, पढ़ें पूरा घटनाक्रम
3 पश्चिम बंगाल: NRC के मुद्दे पर TMC व BJP आमने-सामने, ममता बनर्जी बोलीं- राज्य में नहीं लागू होने दूंगी
ये पढ़ा क्या?
X