ताज़ा खबर
 

Lok Sabha Election 2019: टीडीपी पार्टी अध्यक्ष ने तेलंगाना मुख्यमंत्री को लिखा ओपन लेटर, साजिश के तहत पहले चरण में चुनाव करवाने का लगाया आरोप

Lok Sabha Election 2019 (लोकसभा चुनाव 2019): तेलुगु देशम पार्टी ने तेलंगाना मुख्यमंत्री पर कांग्रेस प्रमुख वाईएस जगन मोहन रेड्डी की मदद का आरोप लगाया है। उन्होंने कहा तेलंगाना सरकार जगन मोहन को चुनाव लड़वाने के लिए जनता के पैसों का इस्तेमाल कर रही है।

टीडीपी नेता चंद्रबाबू नायडू फोटो सोर्सः इंडियन एक्सप्रेस

Lok Sabha Election 2019: आंध्र प्रदेश की तेलुगु देशम पार्टी ( टीडीपी ) ने सोमवार (11 मार्च) को तेलंगाना के मुख्यमंत्री पर राजनीतिक साजिश के तहत प्रदेश की सभी लोकसभा सीटों का चुनाव पहले चरण में करवाए जाने का आरोप लगाया है। टीडीपी पार्टी अध्यक्ष किमदी कला वेकंट ने तेलंगाना के मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव के खिलाफ एक ओपन लेटर लिखा है। जिसमें कहा गया है कि राव ने बीजेपी की मदद लेकर चुनाव आयोग द्वारा आंध्र प्रदेश में पहले चरण में चुनाव करवाने की साजिश रची। उन्होंने कहा ‘हम हार मानने वालों में से नहीं है, हम भी उसेन बोल्ट की तेजी की ही तरह अपनी चुनावी तैयारियों पर ध्यान देंगे’।

कांग्रेस प्रमुख वाईएस जगन मोहन रेड्डी की मदद का लगाया आरोपः यही नहीं टीडीपी पार्टी अध्यक्ष किमदी कला वेकंट ने तेलगांना मुख्यमंत्री पर कांग्रेस पार्टी के प्रमुख वाईएस जगन मोहन रेड्डी को चुनाव लड़ने के लिए पैसे देने की मदद करने का भी आरोप लगाया। उन्होंने टीआरएस प्रमुख पर आरोप लगाते हुए कहा- आप जगन मोहन रेड्डी के लिए तेलंगाना के लोगों का पैसे खर्च कर रहे हैं। जगन अपने हर चुनाव संबंधी फैसलों पर आपकी राय मान रहें हैं। लेकिन फिर भी आप आंध्र प्रदेश को उसके चुनावी मुद्दों को नहीं भटका सकते। क्या यह बात सच नहीं है कि आपने चुनाव लड़ने के लिए जगन मोहन रेड्डी की 2000 करोड़ रुपये की मदद की है। जिनके पास आंध्र प्रदेश में टीडीपी का सामना करने का साहस तक नहीं है? ‘ यही नहीं उन्होंने उन दावों को भी खारिज किया जिसके तहत टीआरएस सरकार ने उनकी पार्टी पर चुनावी डेटा चोरी करने का भी आरोप लगाया था।

सुरक्षित है चुनावी डेटा: किमदी कला वेकंट ने कहा कि आईटी सचिव विजयानंद और आरटीजीएस के सीईओ अहमद बाबू ने पहले ही इस बात की पुष्टि कर दी है कि चुनावी डेटा एकदम सुरक्षित है। डेटा एकत्र करना एक सामान्य सी बात है। तेलंगाना सरकार पर उन्होंने तंज कसते हुए कहा कि क्या आप इस बात से इनकार कर सकते हैं कि आपकी सरकार द्वारा दायर डेटा चोरी मामले का मकसद आपके मित्र जगनमोहन को खुश करना था और चंद्रबाबू नायडू और नवेंद्रंधर की छवि को नुकसान पहुंचाना था।

 

बता दें चुनाव आयोग ने  10 मार्च को लोकसभा चुनाव 2019 के तारीखों की घोषणा की है। इस बार के लोकसभा चुनाव सात चरणों में संपन्न होंगे।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App