ताज़ा खबर
 

चंबल पुल क्षतिग्रस्त, यातायात प्रभावित

चंबल पुल दक्षिणी दिशा पर तीसरे पिलर पर क्षतिग्रस्त हुआ है। उन्होंने बताया कि मध्यप्रदेश की तरफ पुल के पिलर के ऊपर पुल में एक बड़ा सुराख हो गया है।

Author इटावा, | Updated: July 20, 2019 1:08 AM
चंबल नदी का पुल (Wikimedia Commons)

उत्तर प्रदेश और मध्यप्रदेश को जोड़ने वाला चंबल नदी पुल क्षतिग्रस्त हो जाने से यातायात प्रभावित हो रहा है। माना जा रहा है कि पुल से ओवर लोड वाहनों की आवाजाही से बार-बार इसको नुकसान पहुंच रहा है। नेशनल हाइवे के सहायक अभियंता राजकुमार शर्मा ने आज यहां बताया कि चंबल पुल दक्षिणी दिशा पर तीसरे पिलर पर क्षतिग्रस्त हुआ है। उन्होंने बताया कि मध्यप्रदेश की तरफ पुल के पिलर के ऊपर पुल में एक बड़ा सुराख हो गया है। बरही टोल के कर्मचारियों द्वारा पहले इस गड्ढे पर काम किया जा चुका है लेकिन आज दोबारा से उसी जगह पर फिर से एक बड़ा सुराख हो गया है।

उन्होंने बताया कि चंबल पुल पर जो गड्ढा हुआ है, उस पर आज से बरही टोल द्वारा कार्य शुरू किया जा रहा है। इसमें एक सप्ताह का समय लगेगा। साल 2003 से अब तक करीब एक दर्जन से अधिक दफा यह पुल क्षतिग्रस्त हो चुका है। करीब चार दशक पूर्व बनाए गए चंबल नदी का पुल अक्सर खराब रहता है। चंबल पुल का निर्माण न होने तक इटावा-भिंड आने-जाने के लिए स्टीमर और नावों का प्रयोग करना पड़ता था।

1970 के आसपास चंबल पुल का लोकार्पण होने पर दोनों राज्य एक-दूसरे से परस्पर जुड़ गए थे। इससे आवागमन तो सहज हुआ ही, साथ व्यापारिक और सामाजिक रिश्ते और ज्यादा मजबूत हुए। तत्कालीन इंजीनियरों ने इस पुल का निर्माण कराने के दौरान अनुमान लगाया था, ज्यादा से ज्यादा बीस-पच्चीस टन वजनी वाहन आवागमन करेंगे। इसी क्षमता के अनुरूप पुल का निर्माण कराया था। पुल के क्षतिग्रस्त होने से तमाम लोगों को परेशानी हो रही है।

Next Stories
1 Priyanka Gandhi Vadra Dharna Updates: सोनभद्र नरसंहार पीड़ितों से मुलाकात के बाद खत्म हुआ प्रियंका गांधी का धरना, राहुल ने दिया ये बयान
2 पहली पत्नी को छोड़कर विदेश भागने पर NRI की जमीन नीलाम, 25% पीड़ित को दिए
3 सोनभद्र हत्याकांड: SDM, सीओ और दरोगा समेत 5 निलंबित, CM योगी बोले- दोषियों को नहीं छोड़ेंगे
ये पढ़ा क्या?
X