ताज़ा खबर
 

आप सांसद ने कहा- केंद्र ने चीन से लिया 5700 करोड़ का लोन, लोगों को कह रहे चीन का बहिष्कार करने को

आप नेता ने कहा कि चीन को सबक सिखाने के लिए केंद्र सरकार को चरणबद्ध तरीके से योजना बनाकर चीनी सामान का बहिष्कार करना चाहिए। चीन को आर्थिक रूप से चोट पहुंचाने के लिए चीन से व्यापार बन्द होना चाहिए।

AAP MP, Sanjay Singhआप सांसद संजय सिंह। (पीटीआई)

आप नेता और राज्यसभा सांसद संजय सिंह ने केंद्र सरकार पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि सरकार लोगों से चीनी सामानों का बहिष्कार करने के लिए कहती है और खुद वहां से करोड़ों रुपए का लोन ले लेती है। आप नेता ने रविवार (28 जून, 2020) को ट्वीट कर कहा कि वाह रे भाजपाईयों तुम और तुम्हारी ड्रामेबाजी काबिले तारीफ है। देश को कहते हो चीन का बहिष्कार करो और मोदी सरकार चीन से 5700 करोड़ का कर्ज लेती है। सीमा पर जवान शहीद हो रहे हैं और भाजपा सरकार घुटना टेक योजना के तहत काम कर रही है।

बता दें कि वित्त मंत्रालय ने 19 जून को घोषणा की कि भारत सरकार और बीजिंग स्थित बहुपक्षीय वित्तीय संस्था एशियन इन्फ्रास्ट्रक्चर इन्वेस्टमेंट बैंक (AIIB) ने भारत को 750 मिलियन अमरीकी डालर (लगभग 5,688 करोड़ रुपए) COVID-19 सहायता के लिए एक समझौते पर हस्ताक्षर किए। मंत्रालय ने कहा कि भारत सरकार और एशियन इन्फ्रास्ट्रक्चर इन्वेस्टमेंट बैंक (AIIB) ने COVID-19 महामारी से प्रभावित हुए गरीब और कमजोर की मदद के लिए 750 मिलियन अमरीकी डॉलर के सहायता कार्यक्रम पर हस्ताक्षर किए।

आप नेता ने कहा कि चीन को सबक सिखाने के लिए केंद्र सरकार को चरणबद्ध तरीके से योजना बनाकर चीनी सामान का बहिष्कार करना चाहिए। चीन को आर्थिक रूप से चोट पहुंचाने के लिए चीन से व्यापार बन्द होना चाहिए। उन्होंने कहा कि इस समय पूरा देश चाहता है कि सैनिकों की शहादत व्यर्थ नहीं जानी चाहिए। मोदी सरकार चीन को मुंह तोड़ जवाब दे।

Weather Forecast Today Live Updates

उल्लेखनीय है कि आप नेता ने उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार पर भी निशाना साधा है। उन्होंने यूपी सरकार पर रोजगार देने के नाम पर बेरोजगारों के साथ धोखा करने का आरोप लगाया है। संजय सिंह ने डिजिटल प्रेस कॉन्फ्रेंस में रोजगार, मनरेगा, अपराध और भ्रष्टाचार के मुद्दे पर राज्य की भाजपा सरकार को घेरा। सिंह ने योगी सरकार के एक करोड़ लोगों को रोजगार देने के अभियान पर सवाल उठाते हुए कहा कि आंकड़ों के अनुसार साल 2019 में राष्ट्रीय स्तर पर लोगों को मनरेगा के तहत औसतन मात्र 52 दिन काम दिया गया है, वहीं उत्तर प्रदेश में मात्र 42 दिन ही लोगों को काम मिला है।

आप नेता का कहना था कि इस हिसाब से योगी सरकार ने एक परिवार को एक साल में मात्र 8442 रुपए ही दिए तथा यह सच्चाई है और योगी सरकार रोजगार देने के नाम पर प्रदेश के बेरोजगारों के साथ धोखा, मजाक कर रही है। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश की भाजपा सरकार ने राज्य में न तो कोई फैक्टरी लगाई और ना ही रोजगार के कोई दूसरे अवसर पैदा किए, मगर इसके बावजूद योगी सरकार कह रही है कि एक करोड़ नए रोजगार दिए जा रहे हैं।

सिंह ने आरोप लगाया कि योगी सरकार ने तमाम भर्तियों में बेरोजगारों से फॉर्म भरवाने के नाम पर बेरोजगारों से करोड़ों रुपए वसूल लिए लेकिन परीक्षा के बाद परिणाम नहीं आया तथा कुछ नतीजे आये भी तो वे अदालत में लटक गए।

सिंह ने कहा कि कानपुर बाल संरक्षण गृह में कोविड-19 संक्रमित पाई गई 57 में से सात बच्चियां गर्भवती हो गईं। उन्होंने सवाल किया कि आखिर वो दरिंदे कौन हैं जिनकी वजह से बच्चियां गर्भवती हुई। उन्होंने आरोप लगाया कि योगी सरकार ऐसे दरिंदों के खिलाफ कार्यवाही करने के बजाय उन्हें बचा रही है। सरकार के इशारे पर जिला प्रशासन बेतुकी बयानबाजी कर मामले को दबाने का प्रयास कर रहा है। (एजेंसी इनपुट)

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 बंगाल को नहीं मिलेगा गरीब कल्याण रोजगार योजना का लाभ, केंद्रीय वित्त मंत्री ने कहा- राज्य ने नहीं दिए प्रवासियों के आंकड़े
2 Weather Forecast HIGHIGHTS: दिल्ली-एनसीआर में उमस और गर्मी से लोग बेहाल, जानें- कब बरसेंगे बदरा?
3 पुलिस उत्पीड़न से हुई पिता-पुत्र की मौत? तमिलनाडु सरकार CBI से कराएगी जांच, राहुल गांधी ने जताया शोक
ये पढ़ा क्या?
X