Central Minister Menka Gandhi asked Uttar Pradesh Farmers why they sown sugarcane - उत्‍तर‍ प्रदेश: गन्‍ना किसानों से मेनका गांधी के विवादित बोल, बोलीं- क्‍यों बोते हो गन्‍ना? - Jansatta
ताज़ा खबर
 

उत्‍तर‍ प्रदेश: गन्‍ना किसानों से मेनका गांधी के विवादित बोल, बोलीं- क्‍यों बोते हो गन्‍ना?

केंद्रीय मंत्री मेनका गांधी एक कार्यक्रम में शिरकत करने अपने संसदीय क्षेत्र पीलीभीत गई थीं। वहां पहुंचे गन्‍ना किसान जब अपना दुखड़ा सुनाने लगे तो वह अचानक से भड़क गईं। उन्‍होंने किसानों से पूछा कि वे लोग गन्‍ना की खेती क्‍यों करते हैं, जब देश को चीनी चाहिए ही नहीं?

महिला एवं बाल विकास मंत्री मेनका गांधी। (फाइल फोटो)

पीएम नरेंद्र मोदी की एक और मंत्री ने विवादित बयान दिया है। उत्तर प्रदेश के पीलीभीत जिले की सांसद और केंद्रीय मंत्री मेनका गांधी ने गन्ना किसानों को गन्ना न बोने की सलाह दे डाली। मेनका के इस बयान ने अब राजनीतिक रूप ले लिया है। इसका एक विडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। विडियो सामने आने के बाद विपक्षी दलों ने मेनका पर निशाना साधा है। विवाद बढ़ने पर मेनका गांधी ने अब इस बयान पर सफाई पेश की है। पीलीभीत जिले के पूरनपुर क्षेत्र में मेनका गांधी एक कार्यक्रम में हिस्सा लेने पहुंची थीं। वहां पूरनपुर क्षेत्र के कुछ गन्ना किसान अपनी समस्याएं लेकर पहुंचे। किसानों ने गन्ना तौल, भुगतान व चीनी मिलें बंद हो जाने की समस्या से मेनका को अवगत कराया। इसपर अचानक मेनका नाराजगी भरे लहजे में बोलीं- ‘क्यों बोते हो गन्ना, देश को नहीं है चीनी की जरूरत। हजार बार तुम लोगों से कहा है कि गन्ना मत बोया करो।’ मेनका की यह बात सुनकर किसान और परिसर में मौजूद सभी लोग हैरान रह गए।

गन्ना किसानों ने मेनका के ऐसे बोल पर नाराजगी जताते हुए कहा कि अगर हम गन्ना नहीं पैदा करेंगे तो अपने बच्चों को कैसे पालेंगे। पीलीभीत जिले में मेनका के इस बयान पर जनता और विपक्ष ने निशाना साधते हुए इसकी निंदा की है। मौके पर मौजूद कुछ लोगों ने कहा कि प्रदेश के गन्ना किसानों की स्थिति बेहद दयनीय है। गन्ना क्रय केंद्र बंद हो रहे हैं और किसानों को गन्ने का भुगतान नहीं मिल रहा है। वहीं, चीनी मिलें भी गन्ना नहीं ले रही हैं। ऐसे में किसान अपनी समस्याएं सामने रखेंगे नहीं तो क्या करेंगे। गन्ना किसानों पर दिए बयान पर आलोचनाओं से घिरी मेनका गांधी ने एक विडियो के माध्यम से अपनी सफाई दी है। उन्होंने कहा कि बयान को गलत संदर्भ में पेश किया गया है। मेनका ने कहा, ‘मैंने हमेशा किसानों के हित में ही काम किया है और सभी को हरसंभव मदद मुहैया कराई है। मैंने किसानों को गन्ने के अलावा अन्य फसलों पर भी ध्यान देने को कहा, ताकि किसान अधिक मुनाफा कमा सकें।’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App