ताज़ा खबर
 

रेवाड़ी टॉपर गैंगरेप केसः 4 दिन बाद पहली बड़ी गिरफ्तारी, पुलिस ने मास्टरमाइंड नीशू को दबोचा

नूंह एसपी ने रविवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस में पत्रकारों से कहा, "स्पेशल इन्वेस्टिगेशन टीम (एसआईटी) ने दो लोगों को 30 घंटों के भीतर गिरफ्तार किया था। ये दो लोग- दीन दयाल और डॉ.संजीव हैं। वहीं, मुख्यारोपी नीशू भी पकड़ लिया गया है, उसे यहां लाया जा रहा है।"

हरियाणा के रेवाड़ी में सीबीएसई टॉपर संग गैंगरेप केस में पुलिस ने मास्टरमाइंड नीशू को गिरफ्तार कर लिया। (फोटोः ANI)

हरियाणा के रेवाड़ी में टॉपर संग गैंगरेप के मामले में चार दिन बाद पहली बड़ी गिरफ्तारी हुई है। पुलिस ने वारदात के मास्टरमाइंड नीशू को दबोच लिया है। हालांकि, इससे पहले स्पेशल इन्वेस्टिगेशन टीम (एसआईटी) की मदद से उन दो लोगों को पकड़ा गया था, जिन्होंने आरोपियों की सहायता की थी। रविवार (16 सितंबर) को नूंह की एसपी नाजनीन भसीन ने इस बाबत एक प्रेस कॉन्फ्रेंस की। उन्होंने पत्रकारों से कहा, “एसआईटी ने दो लोगों को 30 घंटों के भीतर गिरफ्तार किया था। ये दो लोग- दीन दयाल और डॉ.संजीव हैं। वहीं, मुख्यारोपी नीशू भी पकड़ लिया गया है, उसे यहां लाया जा रहा है।”

बकौल एसपी, “दीन दयाल उसी ट्यूबवेल का मालिक है, जहां घटना हुई थी। वहीं, संजीव एक डॉक्टर है। हमारे सबूतों के अनुसार वह भी घटना में शामिल है। मुख्यारोपी नीशू ने पहले इसकी साजिश रची थी और फिर मौके पर डॉक्टर को बुलाया था।” वारदात में शामिल सेना के जवान के बारे में पूछा गया तो एसपी बोलीं, “वह अभी फरार है, लेकिन उसे जल्द ही गिरफ्तार कर लिया जाएगा।”

पुलिस का कहना है, “संजीव को पता था कि पीड़िता को तीन लोग उठाकर लाए थे। तीनों ने उसके साथ जो कुछ भी किया, उसके बारे में उसे पता नहीं चल पाया था। संजीव वारदात के अंत तक उनके (आरोपियों) साथ था और उसने किसी को भी इस बारे में नहीं बताया। वहीं, दीन दयाल को पता था कि उसकी संपत्ति के आस-पास क्या होने वाला था। मोबाइल फॉरेन्सिक्स से साबित हुआ है कि नीशू ने उससे संपर्क किया था और एक कमरे की जरूरत बताई थी। वारदात की साजिश पहले ही रची जा चुकी थी।”

वहीं, मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर सरकार रेवाड़ी के एसपी राजेश दुग्गल का ट्रांसफर कर दिया गया। उनकी जगह पर राहुल शर्मा को नया एसपी बनाया गया है। पुलिस ने इससे पहले आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए तीन आरोपियों की तस्वीरें जारी की थीं। आरोपियों में मनीष, निशू और सेना का जवान पंकज शामिल है। बता दें कि हरियाणा के महेंद्रगढ़ में एक बस अड्डे से लड़की को अगवा कर उसके साथ कथित तौर पर 12 लोगों द्वारा दुष्कर्म करने का मामला सामने आया था। आरोपियों ने वारदात के बाद पीड़िता के पिता को फोन पर इसकी सूचना दी थी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App