ताज़ा खबर
 

दो जन्‍म प्रमाण-पत्र रखने के मामले में फंसा आजम परिवार, बेटा समेत यूपी के पूर्व मंत्री-पत्नी पर केस

उत्तर प्रदेश के पूर्व कैबिनेट मंत्री और समाजवादी पार्टी (सपा) नेता आजम खान की मुश्किलें बढ़ गई हैं।

Azam Khan, Former UP Minister, Son, Abdullah Azam Khan, Possess, Two Birth Certificates, Case, Wife, SP MP, Tazeen Fatima, Lucknow News, UP News, State News, Hindi Newsयूपी के पूर्व मंत्री आजम खान। (एक्सप्रेस फोटोः ओइनम आनंद)

उत्तर प्रदेश के पूर्व कैबिनेट मंत्री और समाजवादी पार्टी (सपा) के नेता आजम खान की मुश्किलें बढ़ गई हैं। न्यूज एजेंसी एएनआई के मुताबिक, गुरुवार (तीन जनवरी) को रामपुर में उनके बेटे अबदुल्लाह आजम खान के खिलाफ कथित तौर पर दो जन्म प्रमाण पत्र रखने के मामले में केस हो गया। पूर्व मंत्री आजम और उनकी सांसद पत्नी तजीन फातिमा भी धोखाधड़ी के इस मामले में फंसे हैं और उनके खिलाफ भी मामला दर्ज हुआ है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के नेता आकाश सक्सेना ने बीते दिनों प्रेस वार्ता के दौरान आरोप लगाया था कि आजम के बेटे ने दो जन्म प्रमाण पत्र बनवाए और दोनों पर ही अलग-अलग पासपोर्ट भी बनवाया। बीजेपी नेता द्वारा मुहैया कराई गई जानकारी पर प्रमुख गृह सचिव अरविंद कुमार ने जांच के आदेश जारी किए थे। फिलहाल एसपी रामपुर मामले की जांच-पड़ताल में जुटी है।

सक्सेना ने तब दावा किया था कि आजम के बेटे ने रामपुर और लखनऊ से दो अलग-अलग जन्म प्रमाण पत्र बनवाए, जिनके आधार पर उन्होंने दो पासपोर्ट भी बनवाए। बीजेपी नेता ने इसे गहरे षडयंत्र का हिस्सा करार दिया।

आरोप है कि आजम के बेटे के खिलाफ दर्ज केस में हाईकोर्ट को गुमराह करने और जौहर विवि में गलत तरह से लाभ देने के लिए उनके दो जन्म प्रमाण पत्र तैयार कराए गए थे। पहला- 28 जून 2012 को रामपुर की नगर पालिका परिषद से जारी किया गया था। उसमें अब्दुल्लाह का जन्म स्थान रामपुर था, जबकि दूसरा- 21 जनवरी 2015 को लखनऊ से जारी हुआ।

बीजेपी नेता के मुताबिक, अब्दुल्लाह के इन दस्तावेजों में खेल हुआ है। आजम के बेटे ने पासपोर्ट का गलत इस्तेमाल कर विदेश यात्राएं कीं। रिपोर्ट्स के अनुसार, पूर्व मंत्री, सांसद पत्नी व उनके बेटे पर भारतीय दंड संहिता की धारा 193, 420, 467, 468 और 471 के अंतर्गत मामला दर्ज किया गया है।

हालांकि, आजम के बेटे से जब इस बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा, “यह ज्यादती है। 2019 के चुनाव में जनता इसका बदला लेगी।” इससे पहले, तीन तलाक के मामले पर आजम बोले थे कि तीन तलाक को बदलने के लिए लोकसभा में चाहे कितने भी कानून क्यों न बना लिए जाएं, पर वे अपने धर्म और पवित्र कुरान के अनुसार ही चलेंगे।

Next Stories
1 खुदकुशी के 15 दिन बाद तक घर में झूलती रही बुजुर्ग की लाश!
2 यूपी: राम जानकी मंदिर के पुजारी की हत्या, बदमाशों ने मंदिर के गेट पर लटका दी लाश
3 अपने ही गांव में लोगों के गुस्से का शिकार हो गईं बीजेपी सांसद, जमकर हुई नारेबाजी, वीडियो वायरल
ये पढ़ा क्या?
X