ताज़ा खबर
 

कांग्रेस विधायक बोले- ‘पहले जब तेल के दाम बढ़ते थे, तब भाजपा की एक नेता चूड़ियां लेकर घूमती थीं, अब वे अपनी चूड़ियां पीएम मोदी को दे दें’, केस दर्ज

मध्य प्रदेश के विदिशा से कांग्रेस विधायक शशांक भार्गव पर भाजपा कार्यकर्ताओं ने केस दर्ज कराया है, उनके फैक्ट्री स्थित दफ्तर में अज्ञात लोगों ने तोड़फोड़ भी की।

Madhya Pradesh, Congress, PM Modi, Smriti Iraniमध्य प्रदेश के विदिशा से कांग्रेस विधायक ने की पीएम मोदी और स्मृति ईरानी पर आपत्तिजनक टिप्पणी।

देश में पेट्रोल-डीजल के बढ़ते दामों पर विपक्ष ने सरकार पर हमले तेज कर दिए हैं। खासकर कांग्रेस के नेताओं ने इस मुद्दे पर केंद्र के भाजपा नेताओं से जवाब मांगा है। हालांकि, इस बीच मध्य प्रदेश के विदिशा से कांग्रेस के विधायक शशांक भार्गव ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी पर नाम लिए बिना आपत्तिजनक टिप्पणी की है। इस मामले में विधायक के खिलाफ केस भी दर्ज कराया गया है।

क्या कहा विधायक ने?: कांग्रेस विधायक शशांक भार्गव ने पेट्रोल-डीजल के दामों में अप्रत्याशित वृद्धि के बाद विदिशा में साइकिल रैली निकाली। इस दौरान मीडिया से बातचीत के दौरान भार्गव ने कहा, “लॉकडाउन की वजह से देश की अर्थव्यवस्था अस्त-व्यस्त है, इसलिए सरकार को ये मूल्य-वृद्धि वापस लेना चाहिए। भार्गव ने कहा कि पहले जब मूल्य वृद्धि होती थी, तब वह बहुत चूड़ियां लेकर घूमती थीं। मैं उनसे कहना चाहता हूं कि वह पीएम मोदी की करीबी हैं और उनकी प्रिय हैं। चूड़ी तो क्या वे सब कुछ दे सकती हैं उन्हें। चूड़ियों के साथ उन्हें जो कुछ भेंट करना है वो देकर जनता के हित में मोदी जी से निवेदन करें कि तुरंत मूल्य वृद्धि वापस लें।”

विधायक के इस बयान पर भाजपा कार्यकर्ताओं ने उनके खिलाफ केस दर्ज कराया है। भार्गव पर धारा 294 (अश्लीलता) और धारा 504 (जानबूझकर मानहानि करने के इरादे से बोलना) के तहत केस दर्ज हुआ है। विदिशा के एसपी विनायक वर्मा ने बताया कि भार्गव पर पार्टी कार्यकर्ताओं के साथ बिना इजाजत रैली निकालने के लिए भी केस दर्ज किया गया है।

विधायक के दफ्तर में तोड़फोड़: इस बीच विधायक के बयान से नाराज भाजपा कार्यकर्ताओं ने भार्गव की फैक्ट्री में घुसकर उसके दफ्तर में तोड़फोड़ की। एसपी वर्मा ने बताया कि इस मामले में भी अज्ञात लोगों के खिलाफ केस दर्ज हुआ है। हम वीडियो फुटेज के जरिए आरोपियों की पहचान कर रहे हैं। जल्द ही इस मामले में भी नामों का खुलासा होगा। हालांकि, उन्होंने घटनास्थल पर गोली चलने की खबरों को झूठा करार देते हुए कहा कि फॉरेंसिक की टीम भी मौके पर पहुंच गई थी और गोलीबारी के कोई साक्ष्य नहीं मिले हैं।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
ये पढ़ा क्या?
X