ताज़ा खबर
 

अपनी ही पार्टी की पूर्व महिला विधायक पर आपत्तिजनक टिप्पणी, बड़े कांग्रेस नेता के खिलाफ केस

हसन की इसी टिप्पणी को लेकर अब राज्य महिला आयोग ने उनके खिलाफ केस दर्ज कर लिया है। आयोग की अध्यक्ष एमसी जोसफिन का कहना है कि आयोग ने इस मामले में कानूनी सलाह मांगी है और आगे का एक्शन उसी के आधार पर लिया जाएगा।

Author Updated: May 22, 2018 12:09 PM
केरल प्रदेश कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष एमएम हसन (फोटो सोर्स- वीडियो स्क्रीनशॉट)

केरल प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष एमएम हसन के खिलाफ राज्य महिला आयोग द्वारा केस दर्ज किया गया है। हसन के ऊपर अपनी ही पार्टी की पूर्व महिला विधायक शोभना जॉर्ज पर आपत्तिजनक टिप्पणी करने का आरोप लगा है। शोभना और हसन ने साथ मिलकर पार्टी के लिए कुछ समय पूर्व तक सक्रीय तौर पर काम भी किया है। हालांकि इस साल मार्च महीने में शोभना ने सीपीआई(एम) ज्वाइन कर ली और वह इस वक्त 28 मई को होने वाले चेंगन्नूर उप-चुनाव में लेफ्ट उम्मीदवार साजी चेरियन के लिए प्रचार-प्रसार कर रही हैं।

शोभना को लेकर हसन ने हाल ही में एक टीवी में बेहद चौंकाने वाली बात कही है। द न्यूज मिनट के मुताबिक टीवी शो में हसन ने कहा कि 1991 में हुए विधानसभा चुनाव में कांग्रेस ने डी विजयकमर को उम्मीदवार के तौर पर उतारने का मन बना लिया था, लेकिन आखिरी वक्त में शोभना ने तुरुप की चाल चली और खुद उम्मीदवार बन गईं। हसन ने आगे कहा, ‘शोभना को सीट देने का असली कारण मैं कैमरे के सामने नहीं बता सकता।’

हसन की इसी टिप्पणी को लेकर अब राज्य महिला आयोग ने उनके खिलाफ केस दर्ज कर लिया है। आयोग की अध्यक्ष एमसी जोसफिन का कहना है कि आयोग ने इस मामले में कानूनी सलाह मांगी है और आगे का एक्शन उसी के आधार पर लिया जाएगा। आपको बता दें कि शोभना ने 1991 से लेकर 2005 तक विधायक के तौर पर चेंगन्नूर का प्रतिनिधित्व किया है।

हसन की टिप्पणी पर शोभना का कहना है कि अगर वह अपने बयान को वापस नहीं लेते हैं तो वह 28 मई के बाद कानूनी कदम उठाएंगी। उन्होंने कहा, ‘जैसा कि आप जानते हैं कि इस वक्त चुनाव का समय चल रहा है, इसलिए मैं अभी कुछ कहना नहीं चाहती। 1991 चुनाव के संबंध में जो बात हसन ने कही है मैं उसके बारे में कुछ नहीं जानती। उस वक्त उम्मीदवारों का चयन कांग्रेस के आलाकमान ने किया था। उस वक्त अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष राजीव गांधी थे, उन्होंने ही मेरी उम्मीदवारी को मंजूरी दे दी थी। हसन ने जो बात कही है उससे राजीव गांधी तक का अपमान हो रहा है। अगर वह सही हैं तो उन्हें अपनी बात वापस लेनी चाहिए या फिर बताना चाहिए कि उस वक्त क्या हुआ था। एक महिला और सामाजिक कार्यकर्ता होने के नाते मैं इस मामले को आगे तक लेकर जाऊंगी।’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 सपा नेता के विचार- महिलाएं ऐसे कपड़े पहनें जिसमें अश्लीलता न दिखे, व्यभिचार की वजह अंग प्रदर्शन
2 योगी सरकार के मंत्री के बेटे का बयान-लड़कियों को गलत ढंग से छुआ तो काट देंगे हाथ