ताज़ा खबर
 

दिल्लीः गैंगरेप केस की रिपोर्टिंग करने वाले पत्रकार का पुलिस ने छीना फोन, वीडियो डिलीट कर की पिटाई, चोटिल; चार घंटे रखा हिरासत में

कारवां ने इस घटना की एक तस्वीर शेयर करते हुए ट्वीट किया है। कारवां ने जो तस्वीर शेयर की है उसमें 23 वर्षीय पेनकर बिना शर्ट के खड़े हैं और उनकी पीठ पर हमले के निशान हैं।

Author Edited By सिद्धार्थ राय नई दिल्ली | Updated: October 17, 2020 12:47 PM
Ahan Penkar,Ajay Kumar,assault on media,Caravan,Delhi Police,कारवां पत्रिका में काम करने वाले रिपोर्टर अहान पेनकर पर पुलिस ने किया हमला।

कारवां पत्रिका में काम करने वाले रिपोर्टर अहान पेनकर पर पुलिस द्वारा हमला किए जाने की खबरें सामने आई हैं। ‘द वायर’ की एक रिपोर्ट के मुताबिक पेनकर पर शुक्रवार को उत्तरी दिल्ली में एक पुलिस अधिकारी ने कथित तौर पर हमला किया और फिर उन्हें हिरासत में ले लिया। पेनकर इलाके में एक 14 वर्षीय दलित लड़की के कथित बलात्कार और हत्या पर रिपोर्टिंग कर रहे थे। इस घटना को लेकर कारवां पत्रिका ने एक ट्वीट भी किया है।

कारवां ने इस घटना की एक तस्वीर शेयर करते हुए ट्वीट किया है। कारवां ने जो तस्वीर शेयर की है उसमें 23 वर्षीय पेनकर बिना शर्ट के खड़े हैं और उनकी पीठ पर हमले के निशान हैं। कारवां ने लिखा ” आज दोपहर, दिल्ली पुलिस ने कारवां के कर्मचारी अहान पेनकर के साथ मारपीट की। पेनकर उस वक़्त रिपोर्टिंग कर रहे थे। एसीपी अजय कुमार ने मॉडल टाउन स्टेशन परिसर के अंदर पेनकर को लात और थप्पड़ मारा। पेनकर ने पुलिस को बार-बार बताया कि वह एक पत्रकार है, उन्होने अपने प्रैस आईडी भी दिखाई।”

न्यूज़ लौंडरी ने पेनकर के हवाले से कहा है “एसीपी ने मुझे सीने पर लात मारी। जिसके बाद मैं हिल गया, उसने हमें स्टील की रॉड से पीटने की धमकी दी। उन्होंने मुझे मेरी पैंट पकड़ कर उठा लिया और स्टेशन के अंदर ले गए। जिसके बाद मुझे फोन से वीडियो और तस्वीरें हटाने के लिए मजबूर किया गया।

गैंगरेप केस के खिलाफ कुछ लोग मॉडल टाउन में विरोध प्रदर्शन कर रहे थे। पेनकर के मुताबिक गैंगरेप केस में कोई एफ़आईआर दर्ज़ नहीं की गई है। पुलिस का दावा है कि लड़की की मौत आत्महत्या से हुई है उसकी हत्या नहीं की गई है। न्यूज़ लौंडरी के मुताबिक पेनकर इस विरोध प्रदर्शन को कवर कर रहे थे। तभी पुलिस अधिकारी ने उनपर हमला किया और उन्हें हिरासत में लिया।

पेनकर के अनुसार, वे एसीपी कुमार द्वारा पीटे जाने वाला एकमात्र व्यक्ति नहीं थे। दो और लोगों पर भी हमला किया गया था, जबकि एक कांस्टेबल और दो निरीक्षक ये सब देख रहे थे। पेनकर ने न्यूज़ लौंडरी को बताया “जिन लोगों को पीटा गया था उनमें से एक सीख था। एसीपी ने उनकी पगड़ी उतार दी और उनकी पिटाई की। वहीं वे दूसरे शख्स की गर्दन पर चढ़ गए।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 MP By Elections: आ गया Congress का घोषणा-पत्र, COVID-19 से मरने वालों को पेंशन और किसानों की कर्ज माफी 52 वचनों में, जानें और क्या है खास
2 Bihar Elections 2020 के लिए महागठबंधन का मैनिफेस्टो जारी, पर कवर पर सिर्फ तेजस्वी यादव का फोटो, लिखा- प्रण हमारा संकल्प बदलाव का…; जानें घोषणा-पत्र की बड़ी बातें
3 बिहार चुनाव: चिराग ने बीजेपी के एक और बागी को उतारा, यह भी कहा- भाजपा का सीएम चाहता हूं
यह पढ़ा क्या?
X