ताज़ा खबर
 

बरेली में साइबर अपराधों की रोकथाम के लिए चलेगा अभियान

नवागत वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक शैलेश कुमार पांडे ने कहा कि साइबर अपराधों की रोकथाम के लिए जागरूकता अभियान चलाया जाएगा। उन्होंने कहा कि अज्ञान और लालच में फंसकर लोग ठगी के शिकार हो रहे है। उन्होंने कहा कि साइबर अपराधों में लगातार हो रही बढ़ोतरी पर लगाम लगाना जरूरी है।

प्रतीकात्मक तस्वीर फोटो सोर्स- इंडियन एक्सप्रेस

नवागत वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक शैलेश कुमार पांडे ने कहा कि साइबर अपराधों की रोकथाम के लिए जागरूकता अभियान चलाया जाएगा। उन्होंने कहा कि अज्ञान और लालच में फंसकर लोग ठगी के शिकार हो रहे है। उन्होंने कहा कि साइबर अपराधों में लगातार हो रही बढ़ोतरी पर लगाम लगाना जरूरी है। इसके अलावा शासन की प्राथमिकताओं के मुताबिक महिला, बाल और बुजुर्गों के खिलाफ होने वाले अपराधों पर नियंत्रण करने का भी प्रयास करेंगे।
पांडे ने शुक्रवार को यहां कार्यभार ग्रहण करने के बाद पत्रकारों से बातचीत में कहा कि प्रदेश ही नहीं, देशभर में साइबर अपराधों के लोग शिकार हो रहे है। इसमें अपराधी सामने आए बिना लूट को अंजाम दे देता है। पीड़ित को भी लुट जाने के बाद ही इसका पता चलता है। उन्होंने कहा कि नेटबैंकिग और विभिन्न एप्स के माध्यम से अब लोग ज्यादा भुगतान कर रहे है। लेकिन इस संबंध में सावधानियां न बरतने के कारण ठगी के शिकार हो जाते हैं। उन्होंने कहा कि थानों में होने वाली शांति समितियों की बैठकों और जन संवाद के दूसरे अवसरों पर लोगों को डिजिटल लेनदेन में सावधानियां बरतने के लिए जागरूक किया जाएगा।

उन्होंने बताया कि विभागीय अधिकारियों के साथ बैठक कर वे इस जिले की स्थिति का जायजा ले चुके हंै। उन्होने कहा कि बरेली एक संवेदनशील जिला माना जाता है। यहां धार्मिक जुलूस भी काफी संख्या में निकलते हैं। उन्होंने कहा कि इस तरह के धार्मिक आयोजनों के दौरान खुराफाती तत्वों पर कड़ी नजर रखकर शांति व्यवस्था कायम रखने के प्रयास किए जाएंगे। उन्होंने कहा कि शांति समितियों के माध्यम से लोगों के बीच सौहार्द कायम करने की कोशिश भी की जाएगी। उन्होंने कहा कि यहां की प्रमुख समस्या यातायात बताई जा रही है। इसे भी अधिकारियों के साथ बैठक कर दुरुस्त करेंगे ताकि दुर्घटनाओं को रोका जा सके। लोगों को भी यातायात नियमों का पालन करने के लिए जागरूक किया जाएगा। उन्होंने कहा कि शासन की प्राथमिकताओं के मुताबिक माफियाराज को पनपने से रोककर आम लोगों को सुरक्षा का अहसास कराया जाएगा।

उन्होंने कहा कि जन संवाद पर उनका ज्यादा जोर रहेगा। थानों की पुलिस के व्यवहार को जनता के प्रति बेहतर बनाने का प्रयास भी करेगे जिससे लोग बेखौफ थानों में जाकर अपनी समस्याएं बता सके। अपराधियों के खिलाफ इतनी सख्ती की जाएगी कि वे वारदातें करने से डरने लगेंगे। महिलाओं, बच्चों और बुजुर्गों के खिलाफ होने वाले अपराधों पर पुलिस को ज्यादा संवेदनशीलता से काम करने के निर्देश देंगे।

Next Stories
1 Babri Masjid demolition case: दो हफ्ते में आदेश जारी करे उत्तर प्रदेश सरकार
2 मोकामा से विधायक अनंत सिंह ने अदालत में किया आत्मसमर्पण
3 सीएम योगी आदित्यनाथ ने दी अजब सलाह, कहा- डिग्री मिलने के बाद नौकरी के पीछे मत भागो, समाज का विकास करो
ये  पढ़ा क्या?
X